भाई की शादी में रोड़ा बन रहा था बहन का मोटापा, बाप संग मिलकर दे दी मौत

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बेंगलुरू। आईटी हब कहे जाने वाले बेंगलुरू में भाई द्वारा बहन के कत्‍ल की एक दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। कत्‍ल के पीछे का कारण और भी हैरान करने वाला है। जी हां भाई ने बहन का कत्‍ल सिर्फ इसलिए किया क्‍योंकि उसे लगता था कि वो उसकी शादी में अड़चन बन रही है। पुलिस ने आरोपी भाई को गिरफ्तार कर लिया है और मामले की छानीबन कर रही है। मृतका का नाम महालक्ष्‍मी था और वो अपने भाई शिवकुमार और पिता के साथ बेंगलुरू में रहती थी।

क्‍या है पूरा मामला

क्‍या है पूरा मामला

पुलिस से प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक शिवकुमार को ऐसा लगता था कि उसकी बहन महालक्ष्‍मी की दिमागी हालत उसके शादी में अड़चन बन रही है। शिवकुमार काफी तंग आ चुका था क्‍योंकि उसकी बहन उसपर दबाव डाल रही थी कि वो नौकरी छोड़कर उसका ख्‍याल रखने के लिए घर पर रहे।

पुलिस ने पहले समझा खुदकुशी

पुलिस ने पहले समझा खुदकुशी

मामला 28 जून का है। महालक्ष्‍मी का शव उसके घर से बरामद हुआ था। महालक्ष्‍मी बहुत मोटी थी और दिमागी रूप से बीमार भी। भाई शिवकुमार और पिता नंजुनदप्‍पा ने पुलिस को बताया कि अपनी बीमारी से तंग आकर महालक्ष्‍मी ने खुदकुशी कर ली। लेकिन हत्‍या का खुलासा उस वक्‍त हुआ जब पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट आया। पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि महालक्ष्‍मी की मौत गला दबाने से हुई है।

मां की मौत के बाद से ही सदमे में थी महालक्ष्‍मी

मां की मौत के बाद से ही सदमे में थी महालक्ष्‍मी

महालक्ष्‍मी की मां की मौत सात साल पहले हुई थी। मां की मौत के बाद से लक्ष्‍मी सदमे में रहने लगी थी। इसके अलावा उसका बढ़ता वजन उसकी शादी के रास्‍ते में रुकावट बन रही थी। पुलिस ने बताया कि शिव कुमार ज्‍वेलरी की दुकान पर काम करता था। महालक्ष्‍मी उसपर दबाव डालती थी कि वो नौकरी छोड़कर उसकी देखभाल के लिए घर पर रहे।

Murder Mystery of beautiful wife in Moradabad
शिवकुमार ने कबूला जुर्म

शिवकुमार ने कबूला जुर्म

शिवकुमार ने पुलिस के सामने जुर्म कबूल किया और बताया कि वो अपने बहन से बहुत तंग आ चुका था। उसे लगता था कि उसकी बहन के चलते उसकी शादी नहीं हो रही है। इसके चलते ही उसने अपने पिता के साथ मिलकर महालक्ष्‍मी को मार डाला।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
When 28-year-old Mahalakshmi was rushed to the hospital on June 28 after failing to wake up from her afternoon sleep, her father Nanjundappa did not expect that he would return home with her corpse.
Please Wait while comments are loading...