• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पुलवामा हमले पर बोले अन्ना हजारे- बंदूक तो नहीं उठा सकता लेकिन सैनिकों का ट्रक अब भी चला सकता हूं

|

नई दिल्ली। बीते गुरुवार को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला हुआ। इस हमले में 40 जवान शहीद हुए हैं। इस हमले को लेकर देशभर में शोक और गुस्से का माहौल है। अन्य कई लोगों की तरह सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने भी इसपर प्रतिक्रिया दिखाई है। उन्होंने कहा है कि- वे बंदूक तो नहीं उठा सकते लेकिन सैनिकों का ट्रक चलाने का जज्बा अब भी रखते हैं। बता दें कि एक समय में अन्ना हजारे सेना में एक चालक ही थे।

भारत पाक युद्ध के दौरान सेना में थे अन्ना

भारत पाक युद्ध के दौरान सेना में थे अन्ना

अन्ना हजारे ने इस हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि- ‘बुजुर्ग होने के कारण मैं बंदूक नहीं उठा सकता लेकिन अगर जरूरत हुई तो मैं देश के लिए लड़ाई करने वाले अपने सैनिकों को पहुंचाने के लिए निश्चित रूप से वाहन चला सकता हूं।' बता दें कि साल 1965 में भारत पाकिस्तान युद्ध के समय वे खेम सेक्टर में तैनात थे। अन्ना तब भी सेना में बतौर चालक ही थे।

होगा आंतिकियों की हैवानियत का हिसाब

होगा आंतिकियों की हैवानियत का हिसाब

पुलवामा में हुए इस आतंकी हमले को लेकर हर कोई बदले की मांग कर रहा है और केंद्र सरकार से आस लगाए हुआ है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को आश्वासन दिया है कि हमारे शहीदों की ये शहादत बेकार नहीं जाएगी। आतंकियों और उनके आकाओं को अपनी इस हैवानियत का हिसाब देना होगा। पीएम ने कहा कि बदले के लिए सेना को खुली छूट दे दी गई है। बता दें कि इससे पहले साल 2016 में उरी में हुए हमले को लेकर पीएम ने बदले का आश्वासन दिया था और सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए बदले का दावा भी किया गया था।

कंगना रनौत ने कहा- अब शांति की बात मत करना

कंगना रनौत ने कहा- अब शांति की बात मत करना

इस आतंकी हमले पर कई बड़ी हस्तियों की ओर से प्रतिक्रिया आ रही है। जावेद अख्तर, सोनू निगम, अनुपम खेर सभी ने कुछ न कुछ कहा है। इसी कड़ी में कंगना रनौत ने अपना गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि - आतंकियों ने हमारे सम्मान पर हमला किया है। हमारी खामोशी को कायरता समझा जा सकता है। अब अगर किसी ने शांति या अहिंसा की बात की तो उसके मुंह पर कालिख पोट कर गधे पर बैठाकर, सबसे सामने थप्पड़ मारना चाहिए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
anna hazare on pulwama attack, i can still drive the trucks of soldiers
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X