नागपुर लाया जाएगा अंड्रसकर परिवार का शव, केबल कार हादसे में हुई थी मौत

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नागपुर। दिल्ली के ऑफिसर्स कॉलोनी में रहने वाला अंड्रसकर परिवार पिकनिक के दौरान हादसे का शिकार हो गया। इसके बाद से दिल्ली के साथ नागपुर में भी मायूसी है। सोमवार दोपहर तक अंड्रसकर परिवार के चारों सदस्यों का शव नागपुर लाया जाएगा। बता दें कि अंड्रसकर परिवार मूल रूप से नागपुर का रहने वाला था। जो उत्तर कश्मीर के बारामुल्ला जिले में गुलमर्ग घूमने गया था लेकिन इसी दौरान परिवार की एक दर्दनाक हादसे में मौत हो गई।

नागपुर लाया जाएगा अंड्रसकर परिवार का शव, केबल कार हादसे में हुई थी मौत

रोप-वे का केबल का वायर टूटने की वजह से केबल कार में सवार 7 लोगों की खाई में गिरने से मौत हो गई थी। और इसी हादसे में अंड्रसकर परिवार जिसमें जयंत अंड्रसकर (42), उनकी पत्नी मनिषा (40), उनकी बेटी अनघा (5) और जान्हवी (7) इन बच्चियों सहित उनके साथ बैठे गाइड की भी खाई में गिरने से मौत हो गई। तेज हवाओं की वजह से एक बड़ा सा पेड़ रोप-वे के केबल पर जा गिरा, जिससे केबल वायर टूटने से रोप-वे सीधा खाई में जा गिरा।

नागपुर लाया जाएगा अंड्रसकर परिवार का शव, केबल कार हादसे में हुई थी मौत

जयंत अंड्रसकर मूल रूप से नागपुर के रहनेवाले थे, सात साल पहले नौकरी के सिलसिले में दिल्ली में शिफ्ट हुए थे। उनके माता पिता, भाई और बहन नागपुर में ही रहते हैं। हादसे में मुख्तार अहमद नाम के एक स्थानिक नागरिक की बॉडी होने की भी पुष्टि पुलिस ने की है। गुलमर्ग और गोंडोला के दौरान पर्यटकों के आने जाने के लिए रोप-वे (केबल कार) का इस्तेमाल किया जाता है।

इस केबल कार को संभालने के लिए चार केबल वायर होते हैं, एक केबल वायर टूटने के बाद केबल कार हवा में ही काफी समय तक लटकी हुई थी, यात्रियों को बाकी तीन केबल कार से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। गोंडोला राइड गुलमर्ग-गोंडोला रोप वे यात्रियों को सामान के साथ 13,780 फुट ऊंचाई पर ले जाता है, एक घंटे में 600 यात्रियों को ले जाने की क्षमता है। इस दुर्घटना के बाद जयंत के माता-पिता को काफी बड़ा सदमा लगा है।

Read more: हिमाचल प्रदेश: सड़क हादसे में एक ही परिवार के 7 लोगों की मौत, 5 लोग गंभीर

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Accident on Rope way, seven dead four from same family
Please Wait while comments are loading...