हिमाचल प्रदेश चुनाव 2017: सीट नंबर 55 पच्छाद (आरक्षित अनूसूचित जाति) विधानसभा क्षेत्र के बारे में जानिये

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

शिमला। पच्छाद विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र हिमाचल प्रदेश विधानसभा में सीट नंबर 55 है। सिरमौर जिले में स्थित यह निर्वाचन क्षेत्र अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। 2012 में इस क्षेत्र में कुल 62,697 मतदाता थे। 2012 के विधानसभा चुनाव में सुरेश कुमार इस क्षेत्र के विधायक चुने गए। पच्छाद प्रदेश की पिछड़ी विधानसभा क्षेत्रों में से एक है। सरकारें आई व गईं लेकिन आज भी पच्छाद का पिछड़ापन दूर नहीं हो पाया है। इलाका अनूसूचित जाति के लिये आरक्षित है।

himachal

31 पंचायतों में 269 गांव हैं। पिछले चुनावों में यहां कांग्रेस के गंगू राम मुसाफिर के मुकाबले सुरेश कशयप युवा नेता थे। जिससे युवाओं ने उनको समर्थन दिया और आसानी से चुनाव जीत गये। क्षेत्र मे भुरेश्वर महादेव मंदिर समेत कई रमणीक स्थल है और यहां पर्यटन की अपार संभावनाए हैं, इसे पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाए, ताकि यहां बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिल सके।

पच्छाद से अभी तक चुने गये विधायक
वर्ष चुने गये विधायक पार्टी संबद्धता
2012 सुरेश कुमार भाजपा
2007 गंगू राम मुसाफिऱ कांग्रेस
2003 गंगू राम मुसाफिऱ कांग्रेस
1998 गंगू राम मुसाफिऱ कांग्रेस
1993 गंगूराम मुसाफिऱ कांग्रेस
1990 गंगूराम मुसाफिऱ कांग्रेस
1985 गंगू राम कांग्रेस
1982 गंगू राम निर्दलीय
1977 श्री राम जख्मी जनता पार्टी

VVPAT: What is VVPAT which will used in Himachal Pradesh assembly election 2017 | वनइंडिया हिंदी
himachal

वायु सेना की नौकरी के बाद राजनिति में आये सुरेश कश्यप
सुरेश कुमार कशयप पोस्ट ग्रेजूयेट हैं। 46 वर्षीय कशयप के पास लंबा चौड़ा राजनैतिक अनुभव नहीं है। वह साधारण परिवार से राजनिति में आये। उन्होंने 22 अप्रैल 1988 को भारतीय वायु सेना ज्वाइन की। व साढ़े 16 साल की सेवा के बाद राजनिति में आये । व आते ही कामयाबी भी हासिल कर ली। उन्होंने 2012 के चुनावों में कांग्रेस प्रत्याशी गंगू राम मुसाफिर को 2625 मतों से हराया था। पच्छाद के विकास के लिए मैं हमेशा प्रयासरत रहा हूं। इसके लिए मैंने हमेशा विधानसभा सत्र में विकास के मुद्दों को रखा। विधायक सुरेश कश्यप ने बताया कि पच्छाद विस क्षेत्र मे पांच एनएच मार्ग केंद्र सरकार द्वारा दिए गए ह,ै जिसकी डीपीआर राज्य सरकार ने अभी तक केंद्र को नहीं भेजी है। अत: इसकी डीपीआर तैयार कर केंद्र को भेजी जानी थी। ताकि इसका कार्य शुरू हो सके। लेिकन अब आने वाली भाजपा सरकार से यह काम करवायेंगे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
himachal pradesh election 2017 know about Pachhad assembly seat
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.