• search
गोरखपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Gorakhpur News: जीडीए पर्यटकों को देगा यह सुविधा,इलेक्ट्रिक वाहन अब नहीं होगें डिस्चार्ज

गोरखपुर स्थित रामगढ़ताल पर्यटकों के लिए प्रमुख आकर्षण का केंद्र है।यहां हजारों की संख्या में प्रतिदिन लोग आते हैं और यहां के सुदंर दृश्य का आनंद लेते हैं।जीडीए ने यहां आने वाले पर्यटकों के लिए एक विशेष सुविधा देने की तैय
Google Oneindia News

गोरखपुर,16अगस्त: गोरखपुर स्थित रामगढ़ताल पर्यटकों के लिए प्रमुख आकर्षण का केंद्र है।यहां हजारों की संख्या में प्रतिदिन लोग आते हैं और यहां के सुदंर दृश्य का आनंद लेते हैं।जीडीए ने यहां आने वाले पर्यटकों के लिए एक विशेष सुविधा देने की तैयारी की है।जल्द ही यहां पर चार्जिंग प्वाइंट लगाए जाएंगे,जिससे इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज किया जा सकेगा।। इसके लिए भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड के साथ जीडीए अनुबंध करेगा।

charging
रामगढ़ताल क्षेत्र में जीडीए द्वारा एक पार्किंग की व्यवस्था है। एक और पार्किंग बनकर तैयार है। महंत दिग्विजयनाथ पार्क के पास बनाई गई इस पार्किंग में 200 से अधिक चार पहिया पाहन खड़े किए जा सकेंगे। इलेक्ट्रिक वाहनों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सभी पार्किंग में चार्जिंग प्वाइंट लगाए जाएंगे। एनेक्सी भवन, सर्किट हाउस, योगिराज बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह में आयोजित कार्यक्रमों में शामिल होने आने वाले लोग भी अपने वाहनों को चार्ज करा सकेंगे।

चार्जिंग प्वाइंट बनाने के लिए जीडीए द्वारा बीपीसीएल को निश्शुल्क जगह उपलब्ध कराई जाएगी। यहां चार्जिंग प्वाइंट बीपीसीएल के द्वारा स्थापित किया जाएगा। इससे जो आय होगी, उसे एक निश्चित अनुपात में जीडीए व बीपीसीएल के बीच बांटा जाएगा। जल्द ही इस नई सुविधा को लेकर अनुबंध होने की संभावना है।

जीडीए उपाध्यक्ष प्रेम रंजन सिंह ने बताया कि रामगढ़ताल क्षेत्र में कई स्थानों पर पार्किंग बनाई जाएगी। यहां इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने के लिए चार्जिंग प्वाइंट भी बनाए जाएंगे। इसके लिए बीपीसीएल के साथ बातचीत चल रही है।

DDU News Gorakhpur: बीएससी गणित व जीव विज्ञान का कट ऑफ जारी,प्रवेश के समय यह दस्तावेज रखें साथ DDU News Gorakhpur: बीएससी गणित व जीव विज्ञान का कट ऑफ जारी,प्रवेश के समय यह दस्तावेज रखें साथ

गोरखपुर शहर के दक्षिण-पूर्वी छोर पर 1700 एकड़ क्षेत्र में फैला रामगढ़ताल प्रकृति की अनुपम भेंट है। ईसा पूर्व छठी शताब्दी में गोरखपुर का नाम रामग्राम था। यहां कोलीय गणराज्य स्थापित था। उन दिनों राप्ती नदी आज के रामगढ़ताल से ही होकर गुजरती थी। बाद में राप्ती नदी की दिशा बदली तो उसके अवशेष से रामगढ़ताल अस्तित्व में आ गया। रामगढ़ ताल पूर्वांचल का मरीन ड्राइव बन चुका है। इसकी छटा देखने के लिए दूर-दूराज से पर्यटक आते हैं।

Comments
English summary
electric vehicles will be soon charge in ramgadhtal,gorakhpur
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X