• search
गाजियाबाद न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

योगी के मंत्री अतुल गर्ग पर 50 करोड़ की संपत्ति कब्जाने का आरोप, चचेरे भाई ने PMO से की शिकायत

|

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में स्वास्थ्य राज्य मंत्री और गाजियाबाद नगर से भाजपा विधायक अतुल गर्ग पर उनके ही चचेरे भाई श्याम गर्ग ने करीब 50 करोड़ की जमीन और संपत्ति कब्जाने का संगीन आरोप लगाया है। श्याम गर्ग ने प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से मंत्री की शिकायत करते हुए अपनी जान खतरा बताया है। साथ ही न्याय नहीं मिलने पर आत्महत्या की धमकी भी दी है। श्याम गर्ग का आरोप है कि मंत्री अतुल गर्ग ने अपने राजनीतिक रसूख के दम पर उनकी जमीन पर अवैध कब्जा कर लिया है। हालांकि, खुद पर लगे आरोपों को अतुल गर्ग ने बेबुनियाद बताया है।

100 बीघा जमीन हड़पने का आरोप

100 बीघा जमीन हड़पने का आरोप

पीएमओ को लिखे शिकायती पत्र में श्याम गर्ग ने बताया कि उनके परिवार की पसोंडा में 100 बीघा जमीन थी। इस जमीन का कोई बंटवारा नहीं हुआ है। उनके पिताजी की मृत्यु हो गई थी और उसके बाद परिवार के लोगों ने फर्जी मुख्तारनामा कर आपस में ही वह जमीन हड़प ली। उन्होंने आरोप लगाया कि कई बार इस मसले पर स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग से मिलने का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने मिलने से इनकार कर दिया। श्याम गर्ग ने बताया कि उन्होंने साल 2017 में भी अपनी संपत्ति लेने के लिए अतुल गर्ग पर एक केस किया था,लेकिन अभी तक पसोंडा वाली जमीन का कोई बंटवारा नहीं हुआ और उन्हें इसका हिस्सा नहीं मिला।

11 सितंबर को पीएमओ को लिखा पत्र

11 सितंबर को पीएमओ को लिखा पत्र

श्याम गर्ग का आरोप है कि उन्होंने इस मामले में कई बार पुलिस से भी शिकायत की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। उन्होंने जनसुनवाई पोर्टल पर भी मामले की शिकायत की, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। परेशान होकर आखिरकार उन्होंने 11 सितंबर पीएमओ को पत्र लिखा है। श्याम गर्ग के वकील विजय राठी का कहना है कि पूरे परिवार की संपत्ति का मुख्तारनामा है 1993 में हुआ था, यही झगड़े की जड़ है। उन्होंने मामले की सीबीआई जांच की मांग की है।

मंत्री ने कहा- बेबुनियाद हैं आरोप

मंत्री ने कहा- बेबुनियाद हैं आरोप

खुद पर लगे आरोपों को मंत्री अतुल गर्ग ने बेबुनियाद और झूठा बताते हुए कहा कि कहा कि बंटवारा तो साल 1987 में ही हो चुका है। उन्होंने बताया, मेरे पिताजी सात भाई थे, सबके बीच बंटवारा हो चुका है और कोई विवाद नहीं है। श्याम के पिताजी यानी विधायक के चाचा नरेश चंद्र गर्ग चौथे नम्बर के थे। उनके भी चार लड़के और एक लड़की थी। जिनका बंटवारा 20 साल पहले हो चुका है और कोई विवाद नहीं है। मंत्री ने कहा कि जिन्होंने आज उन पर आरोप लगाया है उन्होंने 6 साल पहले किसी कारणवश अपनी संपत्ति को बेच दिया था। अतुल गर्ग ने कहा कि उनकी छवि को घूमिल करने की साजिश के तहत पीएमओ को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि वह खुद चाहते हैं कि सरकार द्वारा एक समिति का गठन कर मामले की गहनता से जांच करा ली जाए।

COVID-19: यूपी में कोरोना वायरस के लगातार बढ़ रहे मामले, अब तक 4690 लोगों की मौत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Yogi minister Atul Garg accused of grabbing land cousin brother writes to pmo
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X