• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

महिलाओं को कभी अनदेखी नहीं करनी चाहिए ये 5 बातें

|

नई दिल्ली। कई बार हमारा शरीर उस पीड़ा की ओर हमारा ध्यान खींच रहा होता है, जो हमें तकलीफ पहुंचाती है। लेकिन हम काम में इतना व्यस्त हो जाते हैं कि इन परेशानियों की ओर ध्यान ही नहीं देते। हम समय रहते बात को समझ नहीं पाते हैं। लेकिन शरीर में दिखने वाले इन लक्षणों को हल्के में नहीं लेना चाहिए।

health, women health, body signs, diseases, स्वास्थ्य, महिलाओं का स्वास्थ्य, लक्षण

कई बार ये किसी बड़ी परेशानी की ओर भी इशारा करते हैं। चलिए जानते हैं उन लक्षणों के बारे में जिन्हें महिलाओं को कभी अनदेखा नहीं करना चाहिए-

कभी भी चक्कर आ जाना

चक्कर आना आजकल के समय में एक आम बात हो गई है। इसे अधिकतर लोग नजरअंदाज कर देते हैं। मान लीजिए खेलकूद, ट्रेनिंग या फिर व्यायाम के बाद आपका सिर घूम रहा है। लेकिन आपने पानी पिया और तापमान भी सही है, लेकिन फिर भी आपको चक्कर आ रहे हैं, तो ये सामान्य बात नहीं है। ये दिल की बीमारी का लक्षण हो सकता है।

मासिकधर्म में अधिक रक्तस्त्राव होना

मासिकधर्म में अधिक रक्तस्त्राव होना

अगर मासिकधर्म (पीरियड्स) के दौरान आप सामान्य से ज्यादा रक्तस्त्राव का सामना कर रहे हैं, तो आपको इसपर ध्यान देने की जरूरत है। इसके पीछे का कारण फाइब्रॉइड या गर्भाशय का अघातक किस्म का ट्यूमर भी हो सकता है। ऐसे ट्यूमर के कारण खून की कमी, गर्भ ठहरने में परेशानी या गर्भावस्था के दौरान कई तरह की परेशानी भी हो सकती है।

बिना खाना छोड़े वजन कम होना

बिना खाना छोड़े वजन कम होना

डाइटिंग करने से अगर वजन कम हो तो वो सामान्य बात है। लेकिन अगर बिना डाइटिंग के भी वजन कम हो रहा है, तो ये क्रोह्न डिजीज का लक्षण हो सकता है। इसके अलावा अगर वजन पांच किलोग्राम से अधिक कम हो जाए तो इसे कैंसर का शुरुआती लक्षण भी माना जाता है। ये लक्षण पैंक्रियाज, पेट, ग्रासनली या फिर फेफड़ों के कैंसर की ओर इशारा करते हैं।

दस्त लग जाना

दस्त लग जाना

सामान्य तौर पर खराब और अधिक खाना खाने से दस्त की समस्या हो सकती है। लेकिन परेशानी तब अधिक बढ़ जाती है, जब आपको आधी रात को ही दस्त लग जाएं। इसके पीछे का कारण कोई संक्रमण या फिर आंतों में सूजन की परेशानी भी हो सकता है।

आंखों का कमजोर हो जाना

आंखों का कमजोर हो जाना

विशेषज्ञों का कहना है कि अगर बिना किसी दर्द के नजरें कमजोर हो जाएं तो ये स्ट्रोक का लक्षण हो सकता है। पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को इसका खतरा अधिक होता है। स्ट्रोक होने की संभावना केवल बुढ़ापे में ही नहीं रहती, बल्कि यह समस्या 35 से 50 साल की महिलाओं को भी हो सकती है।

हाई हील्स पहनने के पांच बड़े खतरे, जरूर जान लें

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
women should never ignore these important things for a better health.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X