• search
फैजाबाद / अयोध्या न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अयोध्या: रामजन्मभूमि समतलीकरण के दौरान मिले मंदिर के अवशेष, प्राचीन देवी-देवताओं की मूर्तियां और शिवलिंग

|

अयोध्या। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या में राम मंदिर निर्माण काम धीरे-धीरे शुरू हो चुका है। इस बीच राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से मंदिर निर्माण के लिए जमीन समतल करने का काम चल रहा है। इस दौरान यहां से कुछ ऐतिहासिक अवशेष मिले हैं। इन अवशेषों में देवी-देवताओं की मूर्तियां, पुष्प कलश, शिवलिंग और नक्काशीदार खंबो के अवशेष मिले हैं। बता दें कि राम जन्मभूमि परिसर में 11 मई से जमीन को समतल करने और बैरीकेडिंग हटाने का काम किया जा रहा है।

    Ram Janmabhoomi मंदिर निर्माण से पहले समतलीकरण, खुदाई में मिल रहें मंदिर के अवशेष | वनइंडिया हिंदी
    तीन जेसीबी, एक क्रेन, दो ट्रैक्टर और लगे हैं दस मजदूर

    तीन जेसीबी, एक क्रेन, दो ट्रैक्टर और लगे हैं दस मजदूर

    श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि अयोध्या में भावी मंदिर के निर्माण के लिए भूमि के समतलीकरण एवं पुराने गैंग-वे को हटाने का काम जारी है। कोरोना महामारी के संबंध में समय-समय पर जारी निर्देशों का पालन करते हुए मशीनों का उपयोग एवं सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजेशन, मास्क समेत अन्य सभी सुरक्षा उपायों का प्रयोग किया जा रहा है। इस कार्य में तीन जेसीबी, एक क्रेन, दो ट्रैक्टर व दस मजदूर लगे हैं।

    क्या-क्या मिला

    क्या-क्या मिला

    जेसीबी के जरिए गर्भगृह के चारों तरफ के मलबे को हटाया जा रहा है। इसी प्रकार दर्शन मार्ग पर दर्शनार्थियों के लिए बनाए गए गैंग-वे की बैरीकेडिंग को हटाने का भी काम जारी है। उन्होंने बताया कि इस दौरान वहां और आसपास के इलाकों में काफी संख्या में पुरावशेष, देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां, पुष्प कलश, आमलक दोरजाम्ब आदि कलाकृतियां निकली है। अब तक 7 ब्लैक टच स्टोन के स्तम्भ, 6 रेडसैंड स्टोन के स्तम्भ, 5 फुट के नक्काशीनुमा शिवलिंग और मेहराब के पत्थर आदि बरामद हुए हैं। चंपत राय ने यह भी बताया कि इन पुरातात्विक वस्तुओं को ट्रस्ट द्वारा संरक्षित किए जाने की भी योजना बन रही है। हालांकि अभी भी वहां खुदाई जारी है।

    काफी लगेगा समय

    रामलला मंदिर के पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास के मुताबिक, जेसीबी मशीनों की सहायता से मुख्य गर्भ स्थल और इसके बगल के चबूतरे आदि के इलाके में समतलीकरण का काम करवाया जा रहा है। इसमे काफी समय भी लगेगा। उन्होंने बताया कि गहरे क्षेत्र में पटाई कर समतल बनाया जा रहा है। साथ ही जहां पहले गर्भ स्थल पर राम लला विराजमान थे, वहां के लिए बने टेढे़-मेड़े दर्शन मार्ग की लोहे की गैलरीनुमा रास्ते के एंगल आदि को भी हटाकर साफ किया गया है। जिससे मंदिर क्षेत्र और इसके आसपास के इलाके को लेकर प्लैटफॉर्म तैयार हो सके।

    ये भी पढ़ें:- अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुंचे थे भाजपा MLA, लोगों ने खेत में दौड़ाया, कहे अपशब्द

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Ayodhya: Shivalinga and carving poles found during debris removal at Ram Janmabhoomi
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X