• search
चंडीगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

हरियाणा- राज्य की 10वीं की बोर्ड परीक्षा पास करने वाले सबसे उम्रदराज व्यक्ति बने पूर्व सीएम ओपी चौटाला

|
Google Oneindia News

चंडीगढ़, 5 सितंबर। कहते हैं कि हमारे राजनेता कम पढ़े लिखे होते है, ये बाद काफी हद तक सही भी है क्योंकि आज भी भारतीय राजनीति में कई नेता बेहद कम पढ़े-लिखे हैं। लेकिन कुछ राजनेता ऐसे भी हैं तो पढ़ना तो चाहते थे लेकिन राजनीतिक व्यस्तता के कारण पढ़ न सके। शायद उन्हीं में से एक हैं हमारे हरियाणा के पूर्व सीएम और भारतीय राष्ट्रीय लोक दल के चीफ ओम प्रकाश चौटाला। चौटाला ने 86 साल की उम्र में 10वीं की बोर्ड की परीक्षा प्रथम श्रेणी से पास की है। इसी के साथ उन्होंने एक रिकॉर्ड भी अपने नाम दर्ज कर लिया है। वह हरियाणा बोर्ड की 10वीं की परीक्षा पास करने वाला सबसे उम्र दराज व्यक्ति भी बन गए हैं।

18 अगस्त को दी थी परीक्षा

18 अगस्त को दी थी परीक्षा

उन्होंने अंग्रेजी कंपार्टमेंट की परीक्षा में 88 प्रतिशत अंक प्राप्त किये हैं। यह परीक्षा उन्होंने आर्य गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल सिरसा में 18 अगस्त को दी थी। बोर्ड ने उनकी कॉपी कक्षा 9 एक छात्रा से लिखवाने की अनुमति दी थी, क्योंकि कुछ समय पहले ही उनका गुरुग्राम के निकट एक्सीडेंट हो गया था, जिसकी वजह से उनके हाथ में चोट आई थी और वो कॉपी लिखने में असमर्थ थे।

इस वजह से जारी नहीं हुआ चौटाला का 12वीं कक्षा का रिजल्ट

इस वजह से जारी नहीं हुआ चौटाला का 12वीं कक्षा का रिजल्ट

इससे पहले चौटाला उन 39,000 छात्रों में शामिल थे, जिन्होंने ओपन स्कूलिंग के जरिए 12वीं की परीक्षा 33 फीसदी अंकों के साथ पास की थी। बोर्ड ने डिस्टेंस मोड के माध्यम से नामांकित सभी छात्रों को 33% के साथ पास किया था, क्योंकि कोरोना के कारण परीक्षाएं आयोजित नहीं हो सकी थीं। चौटाला का कक्षा 12 का परिणाम घोषित नहीं किया जा सका क्योंकि वह 2017 में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग के तहत कक्षा 10 की अंग्रेजी परीक्षा में अनुपस्थित रहे। शिक्षक भर्ती घोटाले में सजा काटने के दौरान जब वह तिहाड़ जेल में बंद थे, तब उन्होंने कक्षा 10 उत्तीर्ण की थी।

स्कूल शिक्षा बोर्ड हरियाणा के चेयरमैंन ने दी बधाई

स्कूल शिक्षा बोर्ड हरियाणा के चेयरमैंन ने दी बधाई

स्कूल शिक्षा बोर्ड हरियाणा के चेयरमैंन जगबीर सिंह ने 10वीं की परीक्षा पास करने को लेकर चौटाला के निजी सहायक को बधाई दी, क्योंकि चौटाला उस दौरान एक बैठक को संबोधित करने में व्यस्त थे। चेयरमैंन ने कहा कि उन्होंने 10वीं की परीक्षा प्रथम श्रेणी से पास की है। उन्होंने कहा कि जब वो हमें ऐप्लीकेशन लिखकर यह बताएंगे कि उन्होंने कंपार्टमेंट परीक्षा पास कर ली है तब हम उनका 12वीं का रिजल्ट घोषित करेंगे।

तिहाड़ जेल में करते थे पढ़ाई

तिहाड़ जेल में करते थे पढ़ाई

इनेलो प्रमुख ओपी चौटाला के कक्षा 10 के रिजल्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए उनके बेटे अभय सिंह चौटाला ने कहा कि उनके पिता ने पारिवारिक मजबूरियों के कारण पढ़ाई छोड़ दी थी। उन्होंने कहा मेरे दादा देवीलाल राजनीति में थे। चौटाला ने खेती-किसानी करने और अपने छोटे भाई-बहनों को शिक्षित करने के लिए स्कूल छोड़ दिया था। मेरे पिता जेल की अवधि के दौरान तिहाड़ जेल की लाइब्रेरी में जाया करते थे, जहां वह अखबार और किताबें पढ़ते थे।

सरकारी यूजी कॉलेज में नहीं मिला सकता दाखिला

सरकारी यूजी कॉलेज में नहीं मिला सकता दाखिला

शैक्षिक विशेषज्ञों के अनुसार, चौटाला के लिए हरियाणा के किसी भी सरकारी कॉलेज में स्नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश पाना मुश्किल है क्योंकि उन्होंने कक्षा 12 में सिर्फ 33% अंक प्राप्त किए थे। डिस्टेंस मोड के माध्यम से कक्षा 12 की परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले हजारों छात्र बोर्ड द्वारा उन्हें 33% अंक देने का विरोध कर रहे हैं और बीएसईएच पर खराब परिणाम का आरोप लगा रहे हैं। विशेषज्ञों के अनुसार अब इन 39,000 लोगों के लिए सरकारी कॉलेज में एडमिशन पाने के सारे रास्ते बंद हो चुके हैं, क्योंकि उनके पर्सेंटेज बहुत कम हैं।

English summary
Haryana- 86-year-old former CM OP Chautala became the oldest person to pass the 10th board examination of the state
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X