• search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

बिहार में ताड़ी बंद करने का कोई सवाल नहीं, ये नेचुरल जूस : पूर्व CM जीतन राम मांझी

शराबबंदी के कारण बिहार हमेशा सुर्खियों में रहता है। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने ताड़ के पेड़ से निकाले जाने वाले पेय पदार्थ को शराब की श्रेणी में रखने पर आपत्ति जताई है।
Google Oneindia News

बिहार में शराब का मुद्दा हमेशा एक प्रमुख सियासी सवाल रहा है। मुख्यमंत्री बनने के बाद नीतीश कुमार शराबबंदी को बड़े फैसलों में गिनाते हैं। भले ही विपक्षी पार्टियां शराब पर नीतीश की नीति की आलोचना करें, लेकिन रिपोर्ट्स में इसके प्रभावी होने की बातें भी सामने आई हैं।

Jitan Ram Manjhi

प्रशासनिक सख्ती के कारण शराब न मिलने पर बिहार के कई जिलों में लोग देसी तरीकों से भी लोग नशे का बंदोबस्त करते हैं। इन्हीं जुगाड़ों में एक है ताड़ से निकाले जाने वाले पेय पदार्थ से नशा। ताड़ी से नशा करने वाले लोग इसके पक्ष में कई तर्क भी देते हैं। मसलन, ताजी ताड़ी में नशा नहीं होता।

शराब पर बैन के बाद एक तबका ऐसा भी है जो ताड़ी को शराब की श्रेणी में गिनने और इसे बैन करने की डिमांड करता है। इस पर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा, ताड़ी बंद करने का कोई सवाल नहीं उठना चाहिए। ताड़ी एक नेचुरल जूस है और इसको शराब की कैटेगरी में रखना ही नहीं चाहिए।

बकौल पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी, ताड़ी में लाखों लोगों का व्यापार और रोजगार छिपा हुआ है। समाचार एजेंसी ANI की रिपोर्ट के मुताबिक मांझी बिहार में शराबबंदी पर राजधानी पटना में पत्रकारों के सवालों के जवाब दे रहे थे। इसी दौरान उन्होंने ताड़ी पर अटपटा बयान दे दिया।

ये भी पढ़ें- Bihar Nikay Chunav : दो चरणों में होगा मतदान, 30 दिसंबर को अंतिम नतीजों का ऐलान, जानिए पूरा शेड्यूलये भी पढ़ें- Bihar Nikay Chunav : दो चरणों में होगा मतदान, 30 दिसंबर को अंतिम नतीजों का ऐलान, जानिए पूरा शेड्यूल

Comments
English summary
Former Bihar CM Jitan Ram Manjhi on Banning Tadi under liquor Category in Bihar.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X