• search
भोपाल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

सिंगरौली से सीधी तक 100 किलोमीटर सड़क के लिए निकाला पैदल मार्च, ये है NH39 का हाल

|
Google Oneindia News

सिंगरौली, 18 अगस्त। जिला यूं तो प्रदेश की उर्जाधानी के नाम से विख्यात है, खनिज बाहुल्य होने के साथ-साथ यह क्षेत्र प्रदेश को राजस्व देने के मामले में सबसे आगे है, लेकिन इस क्षेत्र की गिनती सबसे पिछड़े जिले में होती है। जिले के कई गांवों में अब तक सड़क सुविधा भी उपलब्ध नहीं है। सिंगरौली-सीधी NH39 की हालत खस्ताहाल है। इस सड़क पर चलना किसी खतरे से कम नही है। 20 वर्षो के बाद भी सरकार इस सड़क को नही बनवा पाई। स्थानीय लोग सालों से सरकार से सड़क बनाने की मांग करते आ रहे हैं।

Singrauli direct nh39 road

युवाओ ने खोला मोर्चा

सड़क के लिए जिले के स्थानीय युवाओं ने मोर्चा खोल दिया है। सड़क की मांग को लेकर जिले के युवाओं व समाजसेवियों ने 16 अगस्त से लेकर 20 अगस्त तक यानी 4 दिनों का सफर पैदल करेंगे और सरकार की बदहाल व्यवस्था की पोल खोलेंगे। 100 किलोमीटर की यह पदयात्रा 4 दिनों में खत्म होगी। जिला मुख्यालय बैढन से युवाओं ने 100 किलोमीटर की पदयात्रा की शुरुआत 16 अगस्त से कर दी है। आज पदयात्रा देवसर में पहुँची है। 20 अगस्त को इस पदयात्रा का सीधी जिले में समापन होगा।

Singrauli direct nh39 road

अनोखा तरीका

सरकार की बदहाल व्यवस्था को लेकर युवाओं व समाजसेवियों ने विरोध करने का अनोखा तरीका अपनाया है। इस 100 किलोमीटर की पदयात्रा में सैकड़ों की संख्‍या में लोग शामिल हुए है। और बढ़-चढ़कर के समाजसेवी भी शामिल हो रहे हैं।

Singrauli direct nh39 road

टेंडर होने के बाद भी आधा अधूरा काम

बताते चलें कि विगत एक दशक पूर्व सड़क का टेंडर गैमन इंडिया लिमिटेड को मिला था, जिसने आधा अधूरा काम छोड़ दिया था कई वर्ष सड़क कार्य नहीं पूरा होने पर सड़क परिवहन मंत्रालय द्वारा दोबारा टेंडर कराया गया जिसमें तिरुपति कंस्ट्रक्शन कंपनी शहडोल बुढार को यह काम मिला था। इसके बाद कई महीने पूर्व सांसद रीती पाठक ने देवसर में इस सड़क का दोबारा भूमि पूजन किया था लेकिन आज तक इस सड़क का कार्य दोबारा शुरू नहीं हो सका। जिसके चलते पूरी सड़क गड्ढे में तब्दील हो गई है। इसी के विरोध में जिले के युवाओं व समाजसेवियों ने सिंगरौली जिले के राजीव चौक माजन चौराहा से पद यात्रा शुरू कर दी है। पदयात्रा चार दिन में 100 किलोमीटर का रास्ता तय करके 20 अगस्त को सीधी जिला मुख्यालय पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय अर्जुन सिंह की प्रतिमा के समक्ष समापन होगी।

Satna News: हादसे को न्योता दे रहा स्कूल का जर्जर भवन, टूटी-फूटी छत के नीचे पढ़ाई करने को मजबूर बच्चे'Satna News: हादसे को न्योता दे रहा स्कूल का जर्जर भवन, टूटी-फूटी छत के नीचे पढ़ाई करने को मजबूर बच्चे'

Comments
English summary
A foot march was taken for 100 km road from Singrauli to Sidhi, this is the condition of NH39
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X