• search
बरेली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

रिटायर बस कंडक्टर की बेटी है सपा छात्र सभा की अध्यक्ष नेहा यादव, विरासत में मिली है राजनीति

|
Google Oneindia News

बरेली, 16 अक्टूबर: 'समाजवादी विजय रथ यात्रा' पर निकले उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नेहा यादव को छात्र सभा का राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोनीत किया है। नेहा यादव रिटायर बस कंडक्टर जगदीश सिंह की बेटी है और इलाहाबाद विवि से शोध कर रहीं हैं। यही नहीं, नेहा की मां विमला देवी तीन बार से लगातार गांव की प्रधान हैं। नेहा यादव को समाजवादी छात्रसभा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने के बाद उनके परिवार में खुशी का माहौल रहा। तो वहीं, ऐसा माना जा रहा है कि पार्टी ने उन्हें केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को प्रयागराज दौरे के दौरान काले झंडे दिखाने का इनाम दिया है।

Neha Yadav became the first woman president of Samajwadi Chhatra Sabha

दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक, नेहा यादव मूल रूप से बरेली जिले के ऊंचा गांव की रहने वाली हैं। राजनीति नेहा को विरासत में मिली है। दरअसल, नेहा की मां विमला देवी क्यारा ब्लॉक के ऊंचा गांव की प्रधान हैं और वो लगातार तीसरी बार प्रधान चुनी गई है। अपने पांच भाई-बहनों में नेहा सबसे छोटी है। नेहा छात्रों के लिए शुरू से ही संघर्ष करती आ रही हैं। इसके लिए वो अब तक 6 बार जेल भी जा चुकी हैं। बता दें कि नेहा ने ग्रेजुएशन रुहेलखंड यूनिवर्सिटी से किया है। इसके बाद पोस्टग्रेजुएशन करने के लिए बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) चली गईं।

छेड़खानी के मामले में नेहा यादव ने दिया था धरना
2017 में बीएचयू में छेड़खानी के एक मामले में नेहा यादव तीन दिन तक धरने पर बैठी रही थी। तीसरे दिन लाठीचार्ज हो गया था, उस समय नेहा एमएससी फाइनल इयर में थी। लाठचार्ज के बाद छात्रावास खाली करा लिया गया था। इस घटना में भी नेहा को जेल जाना पड़ा था। नेहा यही नहीं रूकी। 2020 में हुए हाथरस रेप कांड के विरोध में नेहा आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गई थी।

दो महीने की काटी थी सजा
धरने पर बैठने के कारण नेहा यादव को जबरन जेल में डाल दिया गया। नेहा दो महीने की सजा काटकर जब घर लौटीं तो काफी डिमोटिवेट थीं। इसके बाद अखिलेश यादव उनके बरेली स्थित आवास तक गए। नेहा को समझाया और उसका मनोबल बढ़ाया था। हालांकि, नेहा सबसे ज्यादा चर्चाओं में उस वक्त आई जब उन्होंने प्रयागराज में अमित शाह को काले झंडा दिखाया था। काले झंडे दिखाने के लिए नेहा को जेल भी जाना पड़ा था।

2016 में नेहा ने किया था टॉप
नेहा यादव पढ़ाई-लिखाई में भी टॉपर रही हैं। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की 2016 प्रवेश परीक्षा उन्होंने टॉप किया था। बीएचयू से पीएचडी करने के बाद वर्तमान में वह इलाहाबाद विश्वविद्यालय से शोध कर रही हैं। भाई कुलदीप ने बताया कि नेहा को पिछले साल हैदराबाद में यंग साइंटिस्ट अवॉर्ड दिया गया था।

ये भी पढ़ें:- यूपी चुनाव: ओमप्रकाश राजभर ने फिर मारा यू-टर्न, कहा- शर्तें माने BJP तो हम गठबंधन को तैयारये भी पढ़ें:- यूपी चुनाव: ओमप्रकाश राजभर ने फिर मारा यू-टर्न, कहा- शर्तें माने BJP तो हम गठबंधन को तैयार

युवाओं को जगाने छात्रों के बीच जाएंगी नेहा
पार्टी से जिम्मेदारी मिलने के बाद नेहा ने तय किया है कि वह छात्रों के बीच जाएंगी। उनकी समस्याएं सुनेंगी और उन्हें दूर करने के लिए हर संभव शुरुआत करेंगी। इसकी शुरुआत प्रयागराज से ही होगी। नेहा का कहना है कि अगर कोई भी परिवर्तन लाना हो तो इसकी शुरुआत अपने घर से करनी चाहिए। इसलिए प्रयागराज से ही शुरुआत होगी।

Comments
English summary
Neha Yadav became the first woman president of Samajwadi Chhatra Sabha
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X