• search
अहमदाबाद न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

हम 1947 में ही आजाद हो गए थे, जो आजादी मांग रहे हैं उन्हें देश छोड़कर जाने दें: डिप्टी CM नितिन पटेल

|

अहमदाबाद. गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा है कि जो लोग विरोध प्रदर्शन करते हुए 'आजादी' मांग रहे हैं, उन्हें यह देश छोड़कर चले जाने दिया जाए। भारत को आजादी 1947 में ही मिल गई थी, तो इन लोगों को अब किससे आजादी चाहिए? क्या अपने माता-पिता से आजादी चाहिए? क्या वे महिलाएं अपने पति से आजादी चाहती हैं?'

नितिन पटेल का इशारा दिल्ली-लखनउू में हुए मुस्लिम महिलाओं के प्रदर्शन की ओर था। पटेल अहमदाबाद में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। यहीं पटेल ने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ आवाज उठाने वालों को निशाने पर लिया।

nitin patel gujarat

'पीएम मोदी बॉर्डर खुलवा दें, ये चले जाएं'
पटेल ने आगे कहा, 'भारत एक आजाद देश है और दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। अगर वे इस भारत से आजादी चाहते हैं तो हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह करना चाहिए कि वह सीमा खोल दें और उन्हें यहां से चले जाने दें।'

'यह गुजरात है कश्मीर नहीं, जो पत्थर मारोगे'
उप मुख्यमंत्री ने यह भी आरोप लगाया कि अहमदाबाद में सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान पुलिस पर पूर्व योजना के तहत हमला किया गया था। इस दौरान ट्रक भरकर पत्थर इकट्ठा किए गए थे, लेकिन वे भूल गए कि यह गुजरात है कश्मीर नहीं।

यहां बना नेताजी सुभाष चंद्र बोस का पहला मंदिर, सुबह-शाम गाया जाएगा राष्ट्रगान, रोज बंटेगा प्रसादयहां बना नेताजी सुभाष चंद्र बोस का पहला मंदिर, सुबह-शाम गाया जाएगा राष्ट्रगान, रोज बंटेगा प्रसाद

English summary
Gujarat Deputy CM nitin patel Said- Let Azadi-seekers leave country
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X