• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

शनिदेव को खुश करने के लिए कीजिए इन 5 मंत्रों का जाप, सारे कष्ट हो जाएंगे दूर

By पं. ज्ञानेंद्र शास्त्री
|

नई दिल्ली। ज्योतिष में शनिदेव को सबसे ज्यादा महत्व दिया गया है। इस ग्रह से सभी लोग काफी डरते भी हैं क्योंकि एक बार किसी को शनि की पीड़ा शुरू हो जाए तो वह आसानी से पीछा नहीं छोड़ती है, शनि की साढ़ेसाती तो पूरे साढ़े सात साल चलती है। ज्योतिष में शनि को पीड़ाकारी ग्रह माना जाता है, लेकिन वास्तविकता यह है कि शनि न्यायाधीश हैं। वे व्यक्ति को उसके अच्छे-बुरे कर्मों के आधार पर शुभ-अशुभ फल प्रदान करते हैं।

शनिदेव को खुश करने के लिए कीजिए इन 5 मंत्रों का जाप

शनिदेव को खुश करने के लिए आप रोज इन 5 मंत्रों का जाप कीजिए, यकीन मानिए आपके सारे कष्ट दूर हो जाएंगे

  • ऊं शन्नोदेवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये शन्योरभिस्त्रवन्तु न:।
  • ऊं प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम:।
  • ऊं ऐं ह्लीं श्रीशनैश्चराय नम:।
  • कोणस्थ पिंगलो बभ्रु: कृष्णो रौद्रोन्तको यम:।
  • सौरि: शनैश्चरो मंद: पिप्पलादेन संस्तुत:।।
  • शनि का तंत्रोक्त मंत्र- ऊं प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम:

कुछ खास बातें

  • शनि सबसे ठंडा ग्रह कहा जाता है, जिसकी चाल सबसे धीमी होती है।
  • जिस व्यक्ति की जन्मकुंडली में शनि उच्च का हो वह सामान्य परिवार में जन्म लेने के बाद भी राजयोग भोगता है।
  • उच्च का शनि जातक को कर्मठ, कर्मशील और न्यायप्रिय बनाता है।
  • लग्न भाव में शनि होने से जातक आलसी और तुच्छ मानसिकता वाला होता है।
  • शनि नीच का हो तो व्यक्ति दुर्व्यवहारी, दुराचारी होता है।

यह पढ़ें: Vishwakarma Puja 2020: ब्रह्मांड के सबसे पहले वास्तुकार भगवान विश्वकर्मा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Lord Shani is considered to be a God full of justice and does not spare misdeeds of anyone. here is Easy Ways To Impress Lord Shani: Chant These 5 Mantra daily.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X