Tap to Read ➤

World Television Day: क्यों मनाया जाता है टेलीविजन दिवस, जानिए इतिहास

21 नवंबर को टेलीविजन दिवस मनाया जाता है। इसकी वजह यह है कि वर्ष 1966 में इसी तारीख को संयुक्त राष्ट्र ने पहला वर्ल्ड टेलीविजन फोरम आयोजित किया गया। इसके खोज की कहानी बेहद दिलस्चप है।
sanjay jha
टेलीविजन शब्द की उत्पत्ति की ग्रीक भाषा के शब्द ‘टेली' यानी दूर और लातिन के विजियो शब्द यानी ‘देखना' से हुई है। अब आपको समझ आ गया होगा कि ‘दूर दर्शन’ नाम कैसे आया होगा..!
संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा ने दिसंबर 1996 में हर साल 21 नवंबर को विश्‍व टेलीविजन दिवस के तौर पर मनाने का फैसला लिया था।
जॉन लॉजी बैरर्ड को इसके आविष्‍कारक के तौर पर जाना जाता है। उन्‍हें 'फादर ऑफ टेलीविजन के तौर पर भी जाना जाता है।
टीवी की खोज का साल अक्‍टूबर 1925 माना जाता है और इस तरह यह 97 वर्ष का हो चुका है और शतक पूरा करने से महज तीन साल दूर है।
भारत में टेलीविजन की शुरुआत एक प्रयोग के तौर पर सितंबर 1959 में हुई थी। उस दौरान सप्‍ताह में महज दो बार एक-एक घंटे के कार्यक्रम का प्रसार टीवी पर हुआ करता था।
भारत में टीवी का प्रसारण 'ऑल इंडिया रेडियो' के अंतर्गत शुरू हुआ था। लेकिन 1976 में यह एक स्‍वतंत्र विभाग बना, जिसके बाद देश के कई हिस्‍सों में टेलीविजन केंद्र भी खोले गए।
पूरी तरह से कलर टीवी प्रसारण 1953 में अमेरिका में ही शुरू हुआ।
हर 4 में से 1 अमेरिकी कभी न कभी टीवी पर आ चुका है।
13.399 करोड़ रूपए कीमत का दुनिया का सबसे महँगा टीवी प्रेस्टीज HD सुप्रीम रोज एडिशन है।