Tap to Read ➤

Veer Savarkar: कौन थे सावरकर ? क्यों कहलाते हैं वीर?

महान क्रांतिकारी, स्वतंत्रता सेनानी और समाज सुधारक वीर सावरकर का पूरा नाम विनायक दामोदर सावरकर था।
Ankur Sharma
हिंदू राष्ट्रवाद की राजनीतिक विचारधारा को बुलंद और विकसित करने का सारा श्रेय वीर सावरकर को जाता है।
वो एक जाने-माने वकील, कवि, लेखक और राजनीतिज्ञ थे।
सावरकर को राजनीतिक 'हिंदुत्व' की स्थापना करने वाले विनायक के रूप में जाना जाता है।
हिंदुत्व के आधार पर भारत निर्माण का सपना सावरकर ने ही देखा था।
सावरकर ने हमेशा रूढ़िवादी चीजों का विरोध किया था।
विनायक सावरकर का जन्म नासिक के निकट भागुर गांव में हुआ था।
ब्राह्मण हिंदू परिवार में जन्मे सावरकर काफी बहादुर थे इसलिए उनके नाम के आगे वीर जुड़ गया।
उन्होंने अंग्रेजों के खिलाफ लड़ने के लिए एक संगठन 'फ्री इंडिया सोसाइटी' का गठन किया था।
वीर सावरकर ने इंग्लैंड में British colonial के खिलाफ आवाज उठाई थी, जिसके बाद उन्हें लंदन में अरेस्ट करके इंडिया भेज दिया गया था।
24 दिसंबर 1910 को उन्हें अंडमान में जेल की सजा सुनाई गई थी लेकिन बाद में सावरकर को रिहा कर दिया गया था।
26 फरवरी 1966 को सावरकर ने दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया।
IRCTC अकाउंट का PW कैसे करें