Tap to Read ➤

बॉस को Impress करना है?

खुद को पॉवरफुल देखे जाना चाहते हैं तो कुछ चीजों से तौबा कर लें।
सोशल नेटवर्किंग ने हम सभी को तस्वीरों या इमोजी के साथ बातचीत का आदी बना दिया है लेकिन ऑफिस में ये नुकसान पहुंचा सकता है।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
तेल अवीव यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने खुलासा किया है कि ईमेल में इमोजी और तस्वीरें भेजने वालों को कमजोर समझा जाता हैं।
इसलिए अगर आप खुद को पॉवरफुल रूप में देखे जाना चाहते हैं तो तस्वीर या इमोजी भेजने से पहले दो बार सोचें।
शोधकर्ताओं ने सैकड़ों प्रतिभागियों को लेकर प्रयोगों की शृंखला आयोजित की जिसमें उन्हें एक सुपरमार्केट में दो हिस्सों में किया गया।
आधे प्रतिभागियों को मौखिक RED SOX लोगो वाली टी-शर्ट दी गई, जबकि अन्य आधे को तस्वीर वाले लोगो के साथ रखा गया।
परिणामों से पता चला कि प्रतिभागियों ने टी-शर्ट पर लिखे वाले लोगो को तस्वीर वाले लोगो की तुलना में अधिक शक्तिशाली बताया।
एक अन्य प्रयोग में प्रतिभागी दो अन्य प्रतिभागियों के साथ जूम मीटिंग में शामिल हुए। एक ने तस्वीर वाली प्रोफाइल के साथ इंट्री की जबकि दूसरे ने केवल नाम वाली।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
62 प्रतिशत प्रतिभागियों ने उस प्रतिभागी को अधिक प्रभावशाली पाया जिसने मौखिक प्रोफ़ाइल के साथ अपना प्रतिनिधित्व किया था।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
रिसर्च बताती है कि तस्वीर वाले संदेशों का मतलब है व्यक्ति सामाजिक रूप से निकटता बढ़ाने की इच्छा रखता है।
एक अलग शोध में ये पता चला है कि शक्तिशाली लोगों की तुलना में कम शक्तिशाली लोग ज्यादा सामाजिक निकटता की इच्छा रखते हैं।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
यहां ध्यान देने वाली बात है कि इस तरह के संकेत करीबी रिश्तों, जैसे परिवार या गहरे दोस्तों, में अप्रासंगिक होते हैं।
हालांकि जीवन के दूसरे क्षेत्रों खासतौर पर काम या बिजनेस में ये बहुत जरूरी है और हमें इनके असर के बारे में पता होना चाहिए।
ये भी पढ़ें
जापानी स्कूलों के अजीब नियम