Tap to Read ➤

Surya Grahan 2022: गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छा नहीं होता सूर्य ग्रहण?

साल 2022 का पहला 'सूर्य ग्रहण' शनिवार को लगने जा रहा है लेकिन ये ग्रहण में भारत में नजर नहीं आने वाला है।
हालांकि ग्रहण का असर व्यक्ति के ग्रहों पर पड़ता है और इस कारण ग्रहण काल में कुछ चीजों पर ध्यान देना जरूरी है।
ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को खास ख्याल रखना होता है क्योंकि ग्रहण के दौरान कुछ ऐसी चीजें होती है, जो गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए सही नहीं होती है।
ज्योतिषियों की मानें तो ग्रहण काल में पाप ग्रह सामने आते हैं और पाप ग्रहों की छाया होने वाले बच्चे के लिए सही नहीं होती है।
ग्रहण काल के दौरान महिलाओं को अपने पेट के पास तुलसी का लेप लगाना चाहिए। ये होने वाले बच्चे को ठंडक देता है।
धर्म के हिसाब से तुलसी हर बुरी नजर से लोगों को बचाती है इसलिए ग्रहण काल में तुलसी को अवरोधक की तरह प्रयोग किया जाता है।
गर्भवती महिलाओं को कैंची, छुरी, चाकू, ब्लेड, रेजर से दूर रहने को और सुई का प्रयोग ना करने को कहते हैं क्योंकि ऐसा माना जाता है कि काटने वाली चीजों के इस्तेमाल से गर्भस्थ शिशु के अंगों में दोष आ जाता है।
मेडिकली प्वाइंट से देखा जाए तो इसके पीछे कारण महिलाओं को अत्यधिक काम से बचाना है क्योंकि कैंची, छुरी, चाकू थकाने वाले काम में प्रयोग होते हैं।
ग्रहण के दौरान गर्भवती स्त्रियां अपने पास एक साबूत नारियल अवश्य रखना चाहिए इससे ग्रहण के दोष दूर होते हैं।
ग्रहण के दौरान गर्भवती स्त्रियों को ईश्नर का ध्यान करना चाहिए।
सूर्य ग्रहण के दौरान क्या करें