Tap to Read ➤

केसर 3 लाख रुपये किलो, आप मैदानी इलाकों में ऐसे करें इसकी खेती

केसर बहुत ज्यादा गुणकारी है, लेकिन ये इतना महंगा है कि आम आदमी इसे खरीदने में संकोच करता है। इसकी कीमत 1.20 लाख रुपये से लेकर 3.50 लाख तक है। आइए जानते हैं इसकी खेती से जुड़ी अहम बातें-
ASHUTOSH TIWARI

भारत में ज्यादातर कश्मीर में ही इसकी खेती है। वहां पर पंपोर नाम की जगह इसके लिए सबसे ज्यादा फेमस है।

केसर के फूल को क्रोकस कहते है, जिसमें से पीले और लाल धागे निकलते हैं। यही लाल धागा केसर होता है।

आमतौर पर इसकी खेती सितंबर से दिसंबर के बीच ही होती है, लेकिन सवाल ये है कि ये इतना महंगा क्यों है?

केसर के फूलों को मशीन की जगह हाथ से तोड़ना पड़ता है, ऐसे में इसमें मानव श्रम ज्यादा लगता है।

फूल कुछ वक्त के लिए लगते हैं, अगर उसे सही वक्त पर नहीं तोड़ा तो वो बर्बाद हो जाएगा।

केसर के एक फूल में सिर्फ 3 धागे निकलते हैं, ऐसे में 400 ग्राम केसर के लिए 75000 फूलों से उसे इकट्ठा करना पड़ता है।

मतलब साफ है कि कई बीघा जमीन में खेती करने के बाद भी आपको 1 किलो केसर नहीं मिलेगा, इस वजह से ये इतना महंगा है।

वैसे पहले हिमाचल और कश्मीर के किसान इसकी खेती करते थे, लेकिन अब यूपी-राजस्थान में भी कुछ इसे उगा रहे।

इसे ठंड के साथ अच्छी धूप की जरूरत होती है। ज्यादा ठंड में केसर का फूल बर्बाद हो जाता है।

केसर को गर्मियों के मौसम में भीषण गर्मी और सर्दियों के मौसम में कम तापमान की जरूरत होती है।

इसकी खेती के लिए अम्लीय से तटस्थ, बजरी, दोमट और रेतीली मिट्टी का उपयोग किया जाता है।