Tap to Read ➤

PMSBY : पीएम सुरक्षा बीमा योजना क्या है, कैसे मिलेंगे 2 लाख रुपए

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना क्या है ? योजना का क्लेम करने के लिए आपको क्या करना पड़ेगा ? बीमे के 2 लाख रुपए आपको कैसे मिलेंगे ? आगे की स्लाइड्स में जानें इस सब सवालों के जवाब...
vinay saxena
प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत अगर कोई व्यक्ति शामिल होता है और आगे चलकर के उसकी मौत हो जाती है या फिर उसका एक्सीडेंट हो जाता है, तो ऐसी स्थिति में योजना का फायदा मिलता है।
PMSBY में शामिल व्यक्ति का अगर निधन हो जाता है तो उसके नॉमिनी को 2 लाख रुपए की राशि मिलती है। अगर व्यक्ति किसी दुर्घटना की वजह से विकलांग हो जाता है तो व्यक्ति को दो लाख रुपए मिलते हैं।
योजना के तहत अगर व्यक्ति आंशिक तौर पर विकलांग होता है तो उसे 1 लाख रुपए की मदद मिलती है। योजना में शामिल व्यक्ति को हर साल 20 रुपए का प्रीमियम जमा करना पड़ता है। इस योजना का फायदा व्यक्ति इंश्योरेंस कंपनी या अपने बैंक की ब्रांच से भी ले सकता है।
योजना का लाभ लेने के लिए jansuraksha.gov.in पर विजिट करें। वेबसाइट पर फॉर्म वाले ऑप्शन पर क्लिक करें। इसके बाद प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना वाले ऑप्शन पर क्लिक करें। स्क्रीन पर नया पेज ओपन होगा। इसी पर क्लेम फॉर्म के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
इसके बाद आपको भाषा चुनने का विकल्प दिया जाएगा। फिर आप सुरक्षा बीमा योजना क्लेम फॉर्म को पीडीएफ फाइल में ओपन कर सकते हैं। इसे आप को डाउनलोड कर लेना है और उसकी हार्ड कॉपी निकाल लेनी है।
इस फॉर्म को भरने के बाद मांगे जा रहे सभी दस्तावेज को भी साथ में अटैच कर देना है। इसे बैंक में जमा कर देना है। दस्तावेजों और एप्लीकेशन फॉर्म के वेरिफिकेशन के बाद बैंक के द्वारा योजना के अंतर्गत बनी हुई क्लेम राशि आपको दे दी जाएगी।
दस्तावेज : बैंक में जाने के बाद व्यक्ति को पॉलिसी धारक के मृत्यु प्रमाण पत्र को जमा करवाना पड़ेगा। वेरिफिकेशन के बाद बीमा के जो भी पैसे होंगे वह नॉमिनी को उसके बैंक अकाउंट में निश्चित दिन में ट्रांसफर कर दिए जाएंगे। यही प्रक्रिया इंश्योरेंस कंपनी के ऑफिस में जाकर भी की जा सकती है।
इस योजना में शामिल व्यक्ति 70 साल की उम्र तक योजना का फायदा उठा सकता है। अगर व्यक्ति की उम्र 70 साल हो गई है या फिर उसकी उम्र 70 साल से भी अधिक हो गई है तो इंश्योरेंस कंपनी के द्वारा योजना में से व्यक्ति के नाम को निकाल दिया जाता है।
Drishti IAS बंद करने की क्यों उठी मांग, जानिए पूरा विवाद ?
ये भी पढ़ें