Tap to Read ➤

Pink Mushroom In Bihar: गुलाबी मशरूम की खेती से लाखों की कमाई

बिहार के किसान के साथ-साथ युवा छात्र भी आधुनिक खेती में नए-नए प्रयोग कर रहे हैं
inzamam
चम्पारण जिले के छात्र हुजैफ़ा ने गुलाबी मशरूम की खेती का नया प्रयोग किया
कक्षा 9वीं के छात्र के इस प्रोजेक्ट को बाल विज्ञान कांग्रेस के राज्य स्तर पर चुना गया है
बेतिया शहर के नाज़नी चौक के निवासी हुज़ैफा के प्रयोग से प्राकृतिक तौर पर मशरूम में गुलाबी रंग आया है
ऑस्ट्रो मशरूम और चुकंदर के रस के इस्तेमाल से गुलाबी मशरूम के उत्पादन में कामयाबी हासिल की
धान, गेहूं, लकड़ी और नारियल के भूसे को अलग-अलग थैली में रखकर ऑस्ट्रो मशरूम का बीज डाला
नारियल और लकड़ी के भूसे वाले पैक में प्रयोग कामयाब नहीं हुआ, जबकि गेहूं और धान वाले पैक में कामयाबी मिली
मशरूम में सिचाई के लिए पानी की जगह चुकंदर की रस का इस्तेमाल किया, जिससे मशरू का रंग गुलाबी हुआ
मशरूम की उपज के क़रीब 90 फिसद नमी को बनाए रखने के लिए दिन में 2 बार चुकंदर के रस से की सिंचाई
10 मिलीलीटर चुकंदर के रस से दिन में दो बार सिंचाई की, 10 अगस्त से प्रयोग शुरु किए प्रयोग का 12 अक्टूबर को नतीजा मिला
कृषि के जानकारों की मानें तो इस नए प्रयोग का इस्तेमाल कर किसान हर महीने लाखों रुपये की आमदनी कर सकते हैं
ये भी पढ़ें