Tap to Read ➤

जानिए नाथ संप्रदाय के विश्व प्रसिद्ध मंदिर गोरखनाथ के बारे में

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में स्थित गोरखनाथ मंदिर नाथ संप्रदाय का विश्व प्रसिद्ध मंदिर है। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस पीठ के पीठाधीश्वर हैं। इस पीठ की इतिहास व महत्व काफी समृद्ध है।
PunitKumar Srivastava
योग साधना का है केन्द्र
गोरक्षनाथ मंदिर प्राचीन काल से योग साधना का केन्द्र बना हुआ है। ज्वालादेवी के स्थान से परिभ्रमण करते हुए 'गोरक्षनाथ' ने आकर राप्ती व रोहिन के तट पर साधना शुरु कर दी।
नाथ संप्रदाय का विश्व प्रसिद्ध मठ

 गोरखनाथ मंदिर नाथ संप्रदाय का विश्व प्रसिद्ध मठ है। पूरे विश्व में फैले हैं इसके अनुयायी।
हठ योग को दिया था बढ़ावा

इस संप्रदाय के संस्थापक मम्स्येंद्र नाथ ने हठ योग स्कूलों की स्थापना की थी जो वर्तमान समय में योग को निरंतर बढ़ावा दे रहा है।
कई बार हुई मंदिर की संरचना
 पहले इसे अलाउद्दीन खिलजी,जिसने 14 वीं सदी में गोरखनाथ मंदिर को नष्ट कर दिया और बाद में इसे 18 वीं सदी में भारत के इस्लामी शासक औरंगजेब ने नष्ट किया था। 19 वीं सदी की दूसरी छमाही में ब्रम्हलीन महंत दिग्विज्य नाथ ने इसे व्यापक रुप दिया।
सभी धर्मों के लोग आते हैं मंदिर

 इस मंदिर में सभी धर्मों के मानने वाले श्रद्धालुओं की हमेशा भीड़ लगी रहती है।
पर्यटन का है प्रमुख केंद्र
 
यह मंदिर देश के प्रमुख पर्यटन स्थलों में शामिल है। प्रत्येक वर्ष हजारों की संख्या में पर्यटक यहां आते हैं।
अनोखी है यहां की शोभायात्रा

इस मंदिर में प्रत्येक वर्ष विजयदशमी के अवसर पर शोभायात्रा निकाली जाती है। जिसमें पीठाधीश्वर रथ पर सवार होकर जनता के बीच आते हैं।
सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं इस पीठ के पीठाधीश्वर
नाथ संप्रदाय के इस सबसे बड़े पीठ के पीठाधीश्वर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं।
लगता है जनता दरबार
 इस मंदिर में काफी समय से जनता दरबार लगता आ रहा है। इसमें सीएम योगी आदित्यनाथ दूर-दूर से आए फरियादियों की समस्याओं का निस्तारण करते हैं।
विश्व प्रसिद्ध है यहां का खिचड़ी मेला
 इस मंदिर में मकर संक्रान्ति के अवसर पर खिचड़ी मेला लगता है।जिसमें देश ही नहीं विदेशों के लोग भी आते हैं।