Tap to Read ➤

बच्चों की तरह मस्ती के साथ शरीर होगा तंदुरुस्त, जानिए मड बाथ के फायदे

नेचुरोपैथी यानी प्राकृतिक चिकित्सा में मिट्टी के लेप के जरिये कई रोगों का इलाज किया जाता है। मिट्टी से शरीर पर लेप को मड थेरेपी कहा जाता है।
Pavan nautiyal
थेरेपी में मिट्टी को शरीर के किसी एक हिस्से या पूरे शरीर में इस्तेमाल किया जाता है।
ये थेरेपी खासकर स्किन रिलेटिड प्रॉब्लम्स और डिप्रेशन को दूर करने में मददगार है।
इस मिट्टी की ख़ास बात ये होती है कि ये पूरी तरह से केमिकल फ्री और साफ़ होती है।
मड थेरपी के लिए ख़ास तरह की मिट्टी को जमीन के लगभग चार.पांच फिट नीचे से निकाला जाता है।
जानकारी के अनुसार इस मिट्टी में एक्टिनोमाइसिटेस नाम का जीवाणु पाया जाता है, जो कि मौसम के अनुसार अपना रूप बदलता है।
मड बाथ में मिट्टी को कपड़े से छानकर उसे पूरे शरीर पर लगाया जाता है। जब तक पूरा शरीर मिट्टी से रगड़ा जा चुका हो।
फिर 15-20 मिनट तक धूप में बैठकर बाद में ठंडे पानी से स्नान कर लिया जाता है।
मड थेरेपी लेने से स्किन में ग्लो बढ़ता है। स्किन में कसाव आता है और स्किन सॉफ्ट भी होती है।
विंटर में स्नोफॉल का लेना है आनंद, चले आइए उत्तराखंड की इन वादियों में
see more