Tap to Read ➤

जानिए कहां और किसने सबसे पहले मनाया था Mother's Day

भारत में मदर्स डे हर साल मई के दूसरे रविवार को मनाया जाता है। इस साल मदर्स डे 08 मई को है।
मदर्स डे सभी माताओं और बच्चों के लिए एक खास दिन होता है।
भारतीय संस्कृति ने हमेशा माताओं के लिए एक विशेष स्थान दिया है। लेकिन सबसे पहले मदर्स डे भारत में नहीं मनाया गया था।
मदर्स डे मनाने का विचार पहली बार 1900 की शुरुआत में आया था।
कुछ रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 1908 में अमेरिका में अन्ना जार्विस नाम की एक महिला ने सबसे पहले अपनी मां की याद में मदर्स डे मनाने का फैसला किया था।
अन्ना जार्विस की मां का निधन 1905 में हो गया था। जिसके बाद 1908 में जार्विस ने माताओं के सम्मान में वेस्ट वर्जीनिया के ग्राफ्टन में एंड्रयूज मेथोडिस्ट एपिस्कोपल चर्च में पूजा का आयोजन किया था।
अन्ना जार्विस ने 1905 में मदर्स डे को एक मान्यता प्राप्त अवकाश के रूप में मनाने की इच्छा व्यक्त की थी जब उनकी मां एन रीव्स जार्विस का निधन हो गया था। दो साल बाद, पहला रिकॉर्डेड मदर्स डे मनाया गया।
कुछ ही वर्षों के भीतर, अमेरिका के कई हिस्सों ने इस दिन को मनाना शुरू कर दिया।
1914 में अमेरिकी राष्ट्रपति वुडरो विल्सन ने इसे राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया था।
भारत में, मदर्स डे का हमारी संस्कृति या धर्म के लिए कोई विशेष महत्व नहीं है। इसे ज्यादातर शहरी क्षेत्रों में मनाया जाता है।