Tap to Read ➤

Mahakal lok को निहारने का है प्लान, तो रखना होगा इन बातों का ध्यान

धार्मिक नगरी उज्जैन में श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ने लगी है, देश के अलग-अलग राज्यों से श्रद्धालु महाकाल लोक निहारने भी धार्मिक नगरी उज्जैन पहुंच रहे हैं।
Naman Matke
धार्मिक नगरी उज्जैन की सारी पार्किंग फुल नजर आ रही है, तो वहीं जाम की भी स्थिति बन जाती है। शाम होते-होते श्रद्धालुओं की संख्या में इजाफा होता है, जो देर रात तक नजर आता है।
महाकाल लोक निहारने और बाबा महाकाल के दर्शन करने उज्जैन आ रहे दर्शनार्थियों को कई बातों का ध्यान रखना होगा, जिनमें रुकने, खाने, परिवहन और दर्शन के नियम शामिल हैं।
महाकाल लोक में एंट्री पूरी तरह से निशुल्क रखी गई है, तो वहीं महाकाल लोक में चलने वाली ई-रिक्शा के लिए चार्ज रहेगा, या नहीं इसका फैसला फिलहाल नहीं किया गया है।
महाकाल लोक के परिसर में विभिन्न स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं। कंट्रोल रूम से सतत निगरानी की जा रही है।
महाकाल लोक में स्थापित शिवस्तंभ एवं प्रतिमाओं को छूना, अनुचित स्थान पर खड़े होकर सेल्फी लेना, फूल-पत्तियां तोड़ना, म्युरल वाल स्टेचु पर लिखना प्रतिबंधित है.
श्रद्धालुगण मानसरोवर हॉल में नन्दी द्वार से प्रवेश कर सकेंगे, जहां उनकी सुविधा के लिये जूता स्टेण्ड, क्लॉक रूम, मोबाइल लॉकर, पेयजल आदि की सुविधा उपलब्ध है।
श्री महाकाल लोक एवं सम्पूर्ण मन्दिर परिसर में मोबाइल के माध्यम से फिल्मी गाने बजाना एवं अन्य असामाजिक गतिविधियां पूर्णत: प्रतिबंधित हैं।