Tap to Read ➤

LBSNAA Campus के रोचक फैक्ट्स, इतिहास और Timeline

IAS व IPS अधिकारियों को मसूरी स्थित LBSNAA में प्रशिक्षण दिया जाता है।
vishwanath saini
15 अप्रैल 1958 को गृह मंत्री ने लोकसभा में अधिकारियों के प्रशिक्षण संस्‍थान की
घोषणा की।
13 अप्रैल 1959 को मेटकाफ हाउस में 115 अधिकारियों
 के पहले बैच का प्रशिक्षण
शुरू हुआ।
31 अगस्‍त 1970 से अकादमी गृह मंत्रालय के अधीन
काम करने लगी।
एक सितम्‍बर 1970 से अप्रैल 1977 तक अकादमी कैबिनेट सचिवालय कार्य विभाग के अधीन रही।
अक्‍टूबर 1972 से प्रशिक्षण संस्‍थान का नाम लाल बहादुर शास्त्री प्रशासन अकादमी रखा गया।
जुलाई 1973 को नाम बदलकर लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी (LBSNAA) किया गया।
अप्रैल 1977 से मार्च 1985 के बीच अकादमी ने गृह मंत्रालय के अधीन काम किया।
अप्रैल 1985 से आज तक अकादमी कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय के अधीन काम कर रही है।
3 नवंबर 1992 को अकादमी में कर्मशिला भवन का उद्घाटन।
9 अगस्‍त 1996 को अकादमी में ध्रुवशिला और कालिंदी गेस्ट हाउस का उद्घाटन।
9 अगस्‍त 1996 को अकादमी में ध्रुवशिला और कालिंदी गेस्ट हाउस का उद्घाटन।
साल 2011 में भवन ज्ञानशिला, सिल्वरवुड और वैली व्यू
बनाए गए।
21 जून 2013 ब्रह्मपुत्र भवन का उद्घाटन।
29 जून 2015 आधारशिला भवन का उद्घाटन।
अकादमी मसूरी में 6580 फीट से थोड़ा ऊपर की ऊंचाई पर एक हिल स्टेशन है
अकादमी में मुख्य अकादमी परिसर, इंदिरा भवन परिसर, ग्लेनमायर एस्टेट, हैप्पी वैली परिसर, पोलो ग्राउंड और मोनेस्ट्री एस्टेट।