Tap to Read ➤

जानिए कौन थे आजाद भारत के पहले वोटर श्याम सरन नेगी?

देश के प्रथम मतदाता श्याम सरण नेगी का आज सुबह दो बजे निधन हो गया। उन्होंने 2 नवंबर को अपना आखिरी वोट डाला था।
Love Gaur
हिमाचल प्रदेश के किन्नौर निवासी नेगी ने बीते 2 नवंबर को ही विधानसभा चुनाव के लिए पोस्टल वोट डाला था। उन्होंने अपने जीवन में 33 बार वोट डाला है।
श्याम सरण नेगी 106 साल के थे। दुनिया छोड़ने से पहले ही उन्होंने अपनी आखिरी इच्छा मतदान करके पूरी की।
उन्होंने 2 नवंबर को अपना डाक मतपत्र के जरिए वोट डाला था। उन्होंने प्रशासन से मांग की थी कि वो घर से ही मतदान करेंगे।
पहले वोटर नेगी ने बैलेट पेपर से लेकर ईवीएम तक का बदलाव देखा है। अक्टूबर, 1951 में उन्होंने पहली दफा संसदीय चुनाव में वोट डाला था।
साल 1917 में जन्मे नेगी ने अब तक 16 बार लोकसभा चुनाव में मतदान किया है। नेगी ने 1951 से उन्होंने हर इलेक्शन में वोट किया था।
श्याम सरण नेगी 2014 से हिमाचल के चुनाव आइकन भी हैं। 1940 से 1946 तक वन विभाग में वन गार्ड की नौकरी के बाद वो कल्पा स्कूल में अध्यापक बने।