Tap to Read ➤

नवरात्र में क्यों रखते हैं उपवास और क्या हैं इसके फायदे?

हिंदू धर्म में उपवास का विशेष महत्व है। वहीं, नवरात्र में भक्त 9 दिनों का व्रत करके माता रानी प्रसन्न करते हैं। लेकिन, सवाल उठता है कि आखिर क्यों नवरात्र का व्रत रखते हैं और इससे क्या फायदे होते हैं तो आइए जानते हैं।
DEEPAK SAXENA
नवरात्र हमेशा गर्मी की शुरूआत चैत्र और सर्दी की शुरूआत अश्विन में आते हैं। जिससे मौसम में परिवर्तन होता है। ऐसे में हमारे शरीर में भी मौसम के अनुकूल बदलाव होते हैं। जिस कारण उपवास रखने से सेहत में फायदा मिलता है।
नवरात्र शक्ति पूजन का भी प्रतीक है। इन दिनों 9 शक्तियों की पूजा की जाती है। जिससे शरीर में चेतना ऊर्जा का संचार होता है।
हमारा शरीर बारिश के मौसम के बाद तुरंत सर्दी को झेलने में सक्षम नहीं होता है। इससे शरीर में कई नकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। जिसे उपवास करके कम किया जा सकता है।
संयम रखना हर मनुष्य के लिए जरूरी है। नवरात्रि का व्रत रखने से मांस मदिरा से दूरी बनाई जाती है। साथ ही इन मादक पदार्थों से मन का संयम रखा जाता है। वहीं, इन 9 दिनों जो व्यक्ति संयम से नहीं रहता उसके जीवन में बुरा वक्त हमेशा बना रहता है।
नवरात्र में दिन की अपेक्षा रात को विशेष माना गया है। तो साधक लोग इन रातों में माता की विशेष साधना करके सिद्धि हासिल करते हैं। साथ ही कहा जाता है कि इन रातों में प्रकृति के सारे अवरोध खत्म हो जाते हैं।
हमारे इस शरीर में 9 छिद्र होते हैं। नाक के दो छिद्र, दो कान, मुंह, दो गुप्तांग और दो आंख होते है। जिन्हें शुद्ध जल के साथ ही मन से भी पवित्र करना होता है। ये सभी अंग पवित्र होंगे तभी हमारी छठी इंद्री जाग्रत होगी।
उपवास रखने से हमारे शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। साथ ही हमारा शरीर आंतरिक रूप से मजबूत हो जाता है।
नवरात्र में 9 दिन का उपवास रखने से स्किन में एक अलग ही निखार आता है। साथ ही फेस ग्लो करता है।