Tap to Read ➤

सीएम भगवंत मान के 10 मंत्रियों की खासियत, एक नजर में

पंजाब में आम आदमी पार्टी सरकार के कैबिनेट का गठन हो चुका है और मुख्यमंत्री भगवंत मान के 10 मंत्रियों ने 19 मार्च को पद की शपथ ली।
पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने राजभवन में सभी कैबिनेट मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई।
सीएम भगवंत मान कैबिनेट के इन दस मंत्रियों के बारे में हम खास जानकारी लेकर आए हैं। आइए एक-एक कर सबके बारे में जानते हैं।

डॉक्टर बलजीत कौर

आंख की डॉक्टर बलजीत कौर सरकारी नौकरी छोड़ समाज सेवा करने लगीं। चुनाव प्रचार के दौरान इलाज किया। मलोट विधायक अकेली महिला मंत्री हैं। 1.2 करोड़ की मालकिन हैं।

ब्रह्म शंकर जिंपा

उद्योगपति और 8 करोड़ से ज्यादा के मालिक ब्रह्म शंकर कांग्रेस से निकले हैं। होशियारपुर विधायक पंजाब कैबिनेट के सबसे अमीर मंत्री हैं।

डॉ विजय सिंगला

52 साल के डेंटल सर्जन ने मनसा से लाखों फैंस वाले स्टार सिंगर को हरा दिया। इनके पास 6 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति है।

गुरमीत सिंह मीत हेयर

बरनाला विधायक दूसरी बार जीते हैं। मैकेनिकल इंजीनियर की पढ़ाई की है। इन पर पांच क्रिमिनल केस चल रहे हैं।

हरभजन सिंह ईटीओ

पूर्व एक्साइज टैक्सेशन ऑफिसर हरभजन सिंह जंडियाला से विधायक चुने गए। राजनीति विज्ञान में एमए और पेशे से वकील भी रहे। नौकरी छोड़ राजनीति में आए।

हरजोत सिंह बैंस

नवा पंजाब अभियान चलाकर हरजोत सिंह ने युवाओं को जोड़ा। कैबिनेट में सबसे युवा मंत्री। वो 31 साल के हैं। पेशे से वकील है।

हरपाल सिंह चीमा

नेता प्रतिपक्ष रहे हरपाल चीमा आप के बड़े दलित चेहरे हैं। दिड़बा से विधायक पार्टी के कद्दावर नेता पेशे से वकील हैं।

कुलदीप सिंह धालीवाल

60 साल के कुलदीप सिंह धालीवाल कम्युनिस्ट नेता थे तब खालिस्तानी आतंकियों की हिट लिस्ट में रहे थे। राजनीति छोड़ अमेरिका चले गए थे। फिर कांग्रेस में लौटे और अब आप सरकार में मंत्री बने।

लाल चंद कटारूचक्क

मैट्रिक तक पढ़े लाल चंद मार्क्सवादी नेता रहे हैं। दलित नेता लाल चंद भोआ सीट से विधायक हैं। पंजाब कैबिनेट के सबसे गरीब मंत्री हैं।

लालजीत सिंह भुल्लर

पट्टी से प्रकाश सिंह बादल के दामाद प्रताप सिंह कैरों को लालजीत सिंह भुल्लर ने हराया। वे पहले प्रताप सिंह कैरों के ही करीबी थे। उनके पास भी 6 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति है।
आधार कार्ड डाटा को कैसे रखें सेफ
See More