Tap to Read ➤

Bollywood story: जानिए पुरानी फिल्मों से जुड़े कुछ अनसुने Facts

बॉलीवुड फिल्म तो आप देखते ही होंगे लेकिन, फिल्म की शूटिंग के दौरान कई ऐसे किस्से होते हैं जो फैंस से अनछुए बने रहते हैं। तो आइए जानते हैं पुरानी फिल्मों से जुड़े कुछ अनसुने किस्से...
DEEPAK SAXENA
फिल्म दो आंखें बारह हाथ का एक लोकप्रिय गाना 'ऐ मालिक तेरे बंदे हम' उस समय एक पाकिस्तानी स्कूल में बतौर स्कूल एंथम अपनाया गया था।
'कितने आदमी थे' इस डायलॉग को तो आपने सुना ही होगा। फिल्म 'शोले' में गब्बर का किरदार निभाने वाले अभिनेता अमजद खान की जगह डैनी डेन्जोंगपा प्रोड्यूसर की पहली पसंद थे। लेकिन, डैनी की पतली आवाज के कारण ये रोल अमजद खान को दे दिया गया।
फिल्म शोले में ठाकुर बल्देव सिंह का किरदार धर्मेंद्र निभाने वाले थे। लेकिन, जब उन्हें पता चला कि वीरू के साथ हेमा मालिनी हैं। तो उन्होंने वीरू का किरदार करने की ठानी।
ऐतिहासिक फिल्म मुगल-ए-आजम को बनने में 18 साल का लंबा वक्त लगा था।
फिल्म नवरंग से जितेंद्र ने अपने करियर की शुरूआत बॉडी डबल से की थी।
अमिताभ बच्चन ही इकलौते ऐसे बॉलीवुड स्टार थे, जो 1990 तक करोड़ या उससे ज्यादा फीस लेते थे।
अभिनेता ऋषि कपूर के साथ 1-2 नहीं, बल्कि 20 हीरोइनों ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी।
मशहूर फिल्म निर्माता और अभिनेता राज कपूर ने फिल्म सत्यम शिवम सुंदरम की रिलीज से पहले नॉनवेज और शराब छोड़ दी थी। उनका मानना था कि कहीं उनकी फिल्म फ्लॉप न हो जाए।
फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे’ में शाहरुख द्वारा पहनी गई मशहूर काली लैदर जैकेट असल में उदय चोपड़ा की थी, जो उन्होंने कैलिफोर्निया में हार्ले डेविडसन स्टोर से खरीदी थी।