Tap to Read ➤

हर मुश्किल में साथ IL-76 विमान

रूस में फंसे भारतीय छात्रों को लाने के लिए तैयार खड़े हैं भारतीय वायुसेना के IL-76 विमान...
यूक्रेन के बाद अब रूस से भारतीय छात्रों को स्वदेश वापस लाने का काम शुरू हो चुका है, जिसके लिए भारतीय वायुसेना के दो IL-76 विमान तैयार खड़े हैं।
(फोटो: C-17 ग्लोबास्टर
में भारतीय छात्र)
C-17 ग्लोबास्टर
C-17 के साथ IL-76 विमान मुश्किल की घड़ी में हर बार एक मजबूत साथी के रूप में खड़े रहते हैं। एक नज़र IL-76 की खूबियों पर और फिर बताएंगे कि पहले कब-कब इस विमान ने अहम भूमिका निभाई।
IL-76 विमान
IL-76 मतलब इल्‍युशिन - 76, जिसके तीन वेरिएंट हैं। भारतीय वायुसेना के पास इसके तीनों वेरिएंट के कुल 35 विमान हैं।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
IL-76 रूस में निर्मित विमान हैं, जो खास तौर से राहत सामग्री पहुंचाने, भारी संख्‍या में लोगों को लाने, आदि में इस्‍तेमाल किया जाता है।
भारतीय वायुसेना के अलावा रूस, यूक्रेन और लीबिया की वायु सेनाओं में भी IL-76 विमान प्रमुख रूप से इस्‍तेमाल होते हैं। ये 40 हजार किलो से अधिक लोड अपने साथ ले जा सकते हैं।
2021 में
कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर में IL-76 विमान बैंगकॉक से ऑक्सीजन टैंकर लाये थे।
कोविड-19 महामारी के दौरान विदेश में भारतीयों को स्वदेश लाने और देश के अलग-अलग हिस्‍सों में दवाओं, मेडिकल टीम को समय पर पहुंचाने का काम IL-76 ने किया था।
2020 में
2014 में
मालदीव्स में जब पीने के पानी का भारी संकट हुआ, तब भारत ने इन्‍हीं विमानों में पानी के टैंकर मित्र देश को भेजे थे।
2009 में
लोकसभा चुनाव के दौरान पैरामिलिट्री फोर्स के 3234 सुरक्षाबलों और ईवीएम मशीन व अन्‍य चुनाव सामग्री (वजन 102 टन) इम्फाल से पश्चिम बंगाल पहुंचाया था। इस काम में 5 दिन लगे थे।
2009 में
पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश में बाढ़ से लाखों लोग बेघर हो गए थे। उनके लिए राहत सामग्री पहुंचायी व बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया।
अफगानिस्तान और श्रीलंका में बम धमाकों के बाद लोगों के लिए राहत सामग्री, मेडिकल टीम पहुंचाने का काम IL-76 विमान ने किया था।
2009 में
12 नवंबर 1996 को दिल्ली के पास साउदी अरब के बोइंग 747 और कज़ाकस्तान के IL-76 विमान की हवा में टक्कर हुई थी, जिसमें कुल 349 लोग मारे गए थे।
1996 का काला अध्‍याय
आगे पढ़ें तेजस के बारे में
एलसीए तेजस में ऐसा क्या है जिस पर हमें गर्व होना चहिए, जानने के लिए पढ़ें अगली वेबस्टोरी...
Read next on TEJAS