Tap to Read ➤

जापानी स्कूलों के ये नियम बड़े अजीब हैं

जापानी स्कूल अपने अजीब नियमों के लिए जाने जाते हैं।
हाल ही में एक नया नियम जारी किया गया है जिसके तहत लड़कियां पोनीटेल्स (चोटी) करके स्कूल नहीं आ सकती हैं।
इसके पीछे कहा गया है कि लड़कियों की गर्दन खुली रहने से लड़के उत्तेजित हो सकते हैं। है न अजीब तर्क?
जापानी स्कूलों में इसी तरह के अजीब-अजीब नियम लागू किए जाते हैं। इनमें तो कई आपको क्रूर भी लग सकते हैं।
ऐसा ही एक नियम है साफ-सफाई का। जापानी स्कूलों में सफाई के लिए स्टाफ नहीं होता। बच्चे ही क्लास से लेकर टॉयलेट तक की सफाई करते हैं।
हेयरस्टाइल के बारे में तो आप जान ही चुके हैं। जापानी स्कूलों में छात्र-छात्राएं बहुत अच्छी तरह से तैयार होकर भी नहीं जा सकते।
छात्राएं किसी तरह की कलरफुल अंडरवियर नहीं पहन सकती जिससे बाहर के कपड़े से समझ में आए। उन्हें सफेद, ग्रे या काली ही पहननी होती है।
जापान में लगभग हर स्कूल में एक जैसी यूनिफॉर्म होती है। लड़कों को काले रंग का सूट, जबकि लड़कियों के लिए प्लेड स्कर्ट है।
छात्र अपने बाल कलर नहीं कर सकते और उन्हें काले ही रखने होते हैं।
Created by potrace 1.15, written by Peter Selinger 2001-2017
अगर किसी के बाल ही अलग कलर के हैं तो उसका प्रूफ रखना पड़ता है कि उनके बाल प्राकृतिक रूप से दूसरे रंग के हैं।
जापानी हर काम में समय पर होने पर गर्व करते हैं। ऐसे में जापानी स्कूलों में समय की पाबंदी बहुत बड़ी बात है।
जापानी स्कूलों में छात्रों को रिलेशनशिप की अनुमति नहीं है। डेट तो खैर सोच भी नहीं सकते।
ये पढ़ा आपने ?
फेसबुक में मेटा का मतलब