Tap to Read ➤

ISKCON Temple: कितने मंदिर, कितनी कमाई?

दुनियाभर में कितने इस्कॉन मंदिर हैं और इन मंदिरों से कितनी होती है कमाई?
ISKCON मंदिर की स्थापना श्रीमूर्ति अभयचरणाविन्द भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपादजी ने की थी
दुनिया के पहले इस्कॉन मंदिर की स्थापना भारत में नहीं, बल्कि न्यूयार्क में 1966 में हुई थी
स्वामी प्रभुपाद ने पूरे विश्व में भगवान कृष्ण के संदेश को पहुंचाने के लिए इस्कॉन की स्थापना की
ISKCON का पूरा नाम International Society for Krishna Consciousness है
ISKCON के भक्ति आंदोलन को “हरे कृष्ण आन्दोलन” के नाम से भी जाना जाता है
इस्कॉन दुनियाभर में श्रीकृष्ण की भक्ति का प्रचार और प्रसार करने के लिए प्रसिद्ध है
अगस्त 2021 की रिपोर्ट के मुताबिक, दुनियाभर में इस्कॉन के 400 से ज्यादा मंदिर हैं
पहले 10 सालों में ही दुनियाभर में इस्कॉन के 108 मंदिरों की स्थापना हो गई
अगले 3 साल में 2100 करोड़ की लागत से फ्लोटिंग टेम्पल समेत 7 बड़े कृष्ण मंदिर बनाएगा इस्कॉन
साल 2016 में शंकराचार्य ने इस्कॉन मंदिर को अमेरिकियों की साजिश बताया था
शंकराचार्य ने कहा था कि, इस्कॉन मंदिर में आए पैसों को अमेरिका भेजा जाता है
इस्कॉन की वास्तविक कमाई की सही जानकारी नहीं है, लेकिन ज्यादातर कमाई चढ़ावे और मंदिरों की प्रॉपर्टी से होता है