Tap to Read ➤

Loudspeaker : कैसे और कब दुनिया में आया लाउडस्पीकर ?

देश में लाउडस्पीकर का लेकर बवाल मचा है, लेकिन क्या आपको पता है कि कैसे और कब दुनिया में आया लाउडस्पीकर ? आइए जानते हैं
लाउडस्पीकर का सफर आज से 161 साल पहले शुरू हुआ था।
लाउडस्पीकर को बनाने का मकसद सिर्फ और सिर्फ आवाज को दूर तक पहुंचाना था।
जोहान फिलिप रीस नाम के व्यक्ति ने आवाज और टोन अच्छे से सुनाई दे, इसलिए टेलिफोन में लाउडस्पीकर को लगाया था।
टेलीफोन का आविष्कार करने वाले ग्राहम बेल ने साल 1876 में ही लाउडस्पीकर का पेटेंट कराया था।
लाउडस्पीकर में बाद में कई बदलाव किए गए। इसे समय-समय पर अपग्रेड किया गया।
साल 1924 में रेडियो में पहली बार लाउडस्पीकर को लगाया था। चेस्टर डब्ल्यू राइस और एटीएंडटी के एडवर्ड डब्ल्यू केलॉग ने यह काम किया था।
इसके अलावा साल 1943 में आल्टिक लैनसिंग ने डुपलेक्स ड्राइवर्स और 604 स्पीकर्स बनाया जिनको 'वॉयस ऑफ द थियेटर' कहा जाता है।
साल 1954 में एडगर विलचर ने एकॉस्टिक सस्पेंशन को खोजा और फिर स्पीकर्स वाले म्यूजिक प्लेयर्स की शुरुआत हुई।