Tap to Read ➤

Gudi Padwa 2022: क्या है गुड़ी पड़वा का शुभ मुहूर्त ?

महाराष्ट्र वाले अपना नया साल 'गुड़ी-पड़वा' के रूप में सेलिब्रेट करते हैं।
इस बार महाराष्ट्र सहित पूरे देश में गुड़ी पड़वा का त्यौहार 2 अप्रैल को मनाया जायेगा।
चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा को 'गुड़ी-पड़वा' कहा जाता है।
'गुड़ी' का अर्थ 'विजय पताका' होता है।
ऐसा माना जाता है कि इस दिन ब्रह्मा जी ने सृष्टि का निर्माण किया था इसी वजह से हम इसे नये साल के रूप में सेलिब्रेट करते हैं।
2 अप्रैल को इंद्र योग, अमृत सिद्धि योग के साथ सर्वार्थ सिद्धि योग भी बन रहा है।गुड़ी पड़वा पर इंद्र योग सुबह 08:31 मिनट तक है।
अमृत सिद्धि और सर्वार्थ सिद्धि योग 1 अप्रैल से सुबह 10:40 मिनट से 02 अप्रैल को सुबह 06:10 मिनट तक है।
इस दिन मां दुर्गा और भगवान राम की विधि-विधान के साथ पूजा-अर्चना की जाती है। इस दिन खाली पेट पूरन पोली का सेवन करने से चर्म रोग की समस्या दूर जाती है।
ये हैं मां दुर्गा के 9 रूप