Tap to Read ➤

खास विशेषताओं के साथ देश का दूसरा मंदिर है गोरखपुर विष्णु मंदिर

गोरखपुर जिले के असुरन से मेडिकल कॉलेज रोड पर स्थित विष्णु मंदिर की कई महत्वपूर्ण विशेषताएं हैं। काले पत्थर से निर्मित चार भुजाओं वाली भगवान विष्णु की मूर्ति देश में दो ही है। एक तिरुपति बाला जी मंदिर और दूसरा गोरखपुर का विष्णु मंदिर।
PunitKumar Srivastava
पूरे देश में काले पत्थर से निर्मित चार भुजाओं वाला यह दूसरा मंदिर है एक तिरुपति बाला जी मंदिर और दूसरा गोरखपुर विष्णु मंदिर
24 घंटे में तीन बार बदलती है भगवान विष्णु की मुस्कान
असुरन पोखरे के दक्षिण किनारे पर 18 जुलाई,1914 को मिली थी मूर्ति जानवर को चराने गये व्यक्ति ने देखी थी प्रतिमा
तत्कालीन कलेक्टर ने जानकारी होने पर मालखाने में जमा करा दी थी मूर्ति। इसके बाद मूर्ति को लखनऊ म्यूजियम में रखा गया फिर यहां से अजायबघर में स्थानान्तरित कर दिया । मूर्ति को लंदन भेजने की तैयारी हो रही थी
इसकी जानकारी तत्कालीन रानी मझोली श्याम कुअरी को हुई उन्होनें ने प्रतिमा को गोरखपुर लाया और इस मंदिर की 8 मई,1922 को स्थापना की
मंदिर में हो जाते हैं चार धाम के दर्शन मंदिर के चारों कोनों पर बद्री विशाल, जगन्नाथ, भगवान द्वारिकाधीश एवं रामेश्वर की स्थापना की गई है।
भक्तों की लगती है भारी भीड़,वृहस्पतिवार को होती है सर्वाधिक भीड़
प्रत्येक वर्ष होता है विष्णु महायज्ञ का आयोजन
भारी संख्या में यहां आते हैं पर्यटक