Tap to Read ➤

पुरानी और नई पेंशन योजना पर क्यों हो रहा बवाल, जानिए दोनों में अंतर

पुरानी पेंशन योजना (OPS) और नई पेशन योजना (NPS) को लेकर सरकार और विपक्ष में तनातनी बनी हुई है। वहीं, सरकारी कर्मचारी इस उम्मीद में बैठे हैं कि एक बार फिर पुरानी पेंशन योजना लागू हो जाए। तो आइए आपको बताते हैं कि इन दोनों में अंतर क्या है।
DEEPAK SAXENA
पुरानी पेंशन योजना में पेंशन के लिए वेतन से कोई कटौती नहीं होती है। जबकि, नई पेशन योजना में वेतन से 10 प्रतिशत की कटौती होती है।
पुरानी पेंशन योजना में General Provident Fund (GPF) की सुविधा था, जबकि NPS में GPF की सुविधा नहीं है।
पुरानी पेंशन योजना में 6 महीने के बाद महंगाई भत्ता मिलने लगता है, जबकि NPS में महंगाई भत्ता (DA) नहीं लागू होता है।
ओल्ड पेंशन स्कीम में शेयर बाजार का कोई योगदान नहीं था, जबकि नई पेंशन योजना शेयर बाजार के अधीन है।
OPS में सर्विस के दौरान मृत्यु होने पर पेंशन का लाभ फैमिली को मिलने लगता है। जबकि NPS में फैमिली पेंशन मिलती है, लेकिन योजना में जमा पैसे सरकार जब्त कर लेती है।
OPS में रिटायरमेंट के समय पेंशन के लिए GPF से कोई निवेश नहीं करना होता है, जबकि NPS में पेंशन के लिए फंड से 40 फीसदी पैसा इन्वेस्ट करना होता है।
OPS में रिटायरमेंट के बाद 20 लाख रुपये तक ग्रेच्युटी मिलती है, जबकि NPS में ग्रेच्युटी का अस्थाई प्रावधान है।