Tap to Read ➤

रायपुर के टॉप टूरिस्ट स्पॉट , जहां वीकेंड पर होती है भीड़

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर का बेहद ही शांत और सुंदर माहौल सभी को आकर्षित करता है। रायपुर में ठहरने का प्लान कर रहे हैं, तो जान लीजिये आप कहां-कहां घूमना चाहेंगे।
dhirendra giri goswami
सौर ऊर्जा पार्क रायपुर के बच्चों और युवाओ का पसंदीदा पिकनिक स्पॉट है। शहर का दिल माने जाने वाले जयस्तंभ चौक से महज 12 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। यहां झूले, मिनी ट्रेन, झील में बोटिंग , नाव का मजा लिया जा सकता है।
शहर से करीब 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पुरखौती मुक्तांगन में छत्तीसगढ़ के ग्रामीण इलाकों की संस्कृति को प्रदर्शित करती मूर्तियां, झोपड़ी, झील, कृत्रिम पहाड़, खूबसूरत बगीचे हैं।
अगर वन्य जीवन को करीब से महसूस करना चाहते हैं, तो जंगल सफारी एक बढ़िया स्पॉट है। शहर से 30 किलोमीटर की दूरी पर नया रायपुर में स्थित जंगल सफारी जानवरों को देखने और पिकनिक का लुत्फ़ उठाया जा सकता है।
बूढ़ा तालाब यानि विवेकानंद सरोवर में हर वह सुविधा है,जहां जो रायपुर शहर के भीतर ही घूमने फिरने मौज मस्ती का अवसर देती है।
रायपुर शहर और दुर्ग जिले की सीमा पर स्थित महादेवघाट मे खारुन नदी पर बना लक्ष्मण झूला, यहां स्थित हाटकेश्वर महादेव का मंदिर शहर की पहचान है। लोग भगवान शिव के दर्शन और नौकायन के लिए जाते हैं।
तेलीबांधा तालाब रायपुर के सबसे सुंदर स्थानों में से एक है। यहां लोग सुबह और शाम की वाक करने पहुंचते हैं। इसके अलावा यहां चौपाटी भी है।
रायपुर शहर से करीब 25 किलोमीटर दूर चंदखुरी में माता कौशल्या का मंदिर है। भगवान श्री राम के ननिहाल के नाम से प्रसिद्ध इस स्थान में लोग देवी माता के दर्शन करने और पिकनिक मनाने पहुंचते हैं।
रायपुर के VIP रोड में स्थित भगवान श्री राम का भव्य मंदिर शहर के मुख्य आकर्षणों में शुमार है।
रायपुर शहर का प्रसिद्ध महामाया मंदिर पर्यटकों के आकर्षण का एक खास केंद्र है। यहां लोग देवी दर्शन के साथ आध्यात्मिक सुख की प्राप्ति करते हैं।
शहर के मठपारा में स्थित प्राचीन मंदिर दूधाधारी मठ का नाम एक ऋषि के नाम पर रखा गया था। बुजुर्ग बताते हैं कि वह संत अधिक दूध पीते थे। यह स्थान शहर की प्रमुख विरासतों में से एक है।