Tap to Read ➤

भानुप्रतापपुर उपचुनाव यानि छत्तीसगढ़ की सत्ता का सेमीफाइनल

छत्तीसगढ़ की भानुप्रतापपुर में उपचुनाव हो रहा है। 2023 के विधानसभा चुनाव से पहले सत्ता का सेमीफाइनल माना जा रहा है।
dhirendra giri goswami
भानुप्रतापपुर विधानसभा सीट के लिए 5 दिसंबर 2022 को मतदान और 8 दिसंबर 2022 को मतगणना होगी।
संयुक्त मध्य प्रदेश के वक़्त 1962 में पहली बार भानुप्रतापपुर का विधानसभा क्षेत्र घोषित किया गया था ।
इस सीट पर भाजपा और कांग्रेस दोनों ने जीत दर्ज की है।
दिवंगत कांग्रेस विधायक मनोज मंडावी ने लगातार 2013,2018 के चुनाव में जीत दर्ज की।
कांग्रेस विधायक मनोज मंडावी के निधन के बाद सीट खाली होने से बाद उपचुनाव की स्थिति बनी।
मनोज सिंह मंडावी का 16 अक्टूबर को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था।
इस चुनाव में कांग्रेस ने मनोज मंडावी की पत्नी सावित्री मंडावी को मैदान में उतारा है।
भाजपा ने ब्रम्हानंद नेताम को टिकट दिया है। वह 2008 में भानुप्रतापपुर से विधायक रह चुके हैं।
आम आदमी पार्टी और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ ने यह चुनाव नहीं लड़ने का फैसला लिया है।
इस चुनाव में आदिवासियों के आरक्षण में 12 फीसदी की कटौती मुद्दा अहम नजर आ रहा है।
भानुप्रतापपुर विधानसभा में 70 प्रतिशत मतदाता आदिवासी समुदाय से आते हैं।
भानुप्रतापपुर में कुल 1,95,678 मतदाता हैं। जिसमें पुरुष मतदाता 95,186 और महिला मतदाता 1,00491 और 1 थर्ड जेंडर भी है।
ये भी पढ़ें