Tap to Read ➤

Covid-19: बच्चों की स्कूल वापसी, ऐसे बूस्ट करें इम्यूनिटी

कोरोना ने लगभग दो साल तक बच्चों को स्कूलों से दूर रखा था लेकिन एक बार फिर से स्कूल खुलने लगे हैं।
दो साल स्कूल बंद रहने और सामाजिक गतिविधियों पर प्रतिबंधों के चलते बच्चों के शारीरिक, मानसिक और सामाजिक विकास पर असर पड़ा है।
बाहरी दुनिया के संपर्क में न रहने से बच्चों की इम्यूनिटी पर भी असर पड़ा है। ऐसे में स्कूल खुलने के दौरान इसका ख्याल रखना जरूरी है।
कई प्रमुख पोषक तत्व हैं जो इम्यूनिटी बढ़ाने में बड़े काम के हैं। बच्चों की डेली डाइट में इसे शामिल करना बहुत फायदेमंद होता है।
यह शरीर के लिए जरूरी विटामिन है। संतरे और नींबू जैसे फल विटामिन सी का एक बड़ा स्रोत हैं, तो ब्रोकली, फूलगोभी, और मिर्च जैसी सब्जियों में भी मिलता है।
विटामिन C
प्रमुख एंटीऑक्सीडेंट और महत्वपूर्ण पोषक तत्व है जो कोशिकाओं के विकास में मदद करता है। बच्चों को वनस्पति तेल, नट, बीज, पत्तेदार और हरी सब्जियों से मिल सकता है।
विटामिन E
एक महत्वपूर्ण खनिज जो शरीर के स्वस्थ कामकाज और स्वस्थ कोशिकाओं को सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक है। बीन्स, मशरूम और सूरजमुखी के बीज जैसे खाद्य पदार्थ इसके बढ़िया स्रोत हैं।
सेलेनियम
आर्जिनिन
महत्वपूर्ण अमीनो एसिड है जो हड्डियों की ग्रोथ प्लेट में कोशिकाओं के गुणन को बढ़ावा देकर विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। डेयरी उत्पाद, मांसाहारी खाद्य पदार्थ, नट्स आदि में मिलता है।
एक महत्वपूर्ण सूक्ष्म पोषक तत्व जो हड्डियों में कैल्शियम के परिवहन में मदद करता है और अंततः मजबूत हड्डियों के निर्माण में मदद करता है। यह डेयरी, अंडे और मांस में पाया जाता है।
विटामिन K2
विकास और प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व मांस, चिकन, समुद्री भोजन, दूध, साबुत अनाज से बने उत्पाद, सेम, बीज और नट्स में पाया जा सकता है।
जिंक
यह मांसपेशियों को ऑक्सीजन के भंडारण और उपयोग में मदद करता है। यह गहरे हरे पत्तेदार सब्जियों जैसे पालक, फलियां, कद्दू के बीज, अंडे, मांस में पाया जाता है।
आयरन
शरीर को थायराइड हार्मोन बनाने के लिए इसकी आवश्यकता होती है जो शरीर के चयापचय और कई अन्य महत्वपूर्ण कार्यों को नियंत्रित करता है। यह समुद्री भोजन और आयोडीनयुक्त नमक में पाया जाता है।
आयोडीन
ब्लड प्रेशर ऐसे करें कंट्रोल
ब्लड प्रेशर करें कंट्रोल