Tap to Read ➤

पल्लवी पटेल कौन हैं? केशव मौर्य को हराया

यूपी चुनाव में सिराथू सीट से भाजपा के कद्दावर नेता केशव मौर्य को सपा उम्मीदवार पल्लवी पटेल ने हराकर सबको चौंका दिया। आइए जानते हैं कि पल्लवी पटेल कौन हैं?
बसपा छोड़कर 1995 में कुर्मी नेता सोनेलाल पटेल ने अपना दल बनाया। उनकी बेटियां हैं अनुप्रिया पटेल और पल्लवी पटेल
2009 में एक हादसे में सोनेलाल पटेल की मौत हो गई। इसके बाद पत्नी कृष्णा पटेल और बेटी अनुप्रिया पटेल ने अपना दल को थामा।
लेडी श्रीराम कॉलेज से पढ़ी अनुप्रिया ने अपनी वाकपटुता की बदौलत अपना दल को मजबूत किया और 2012 में यूपी चुनाव में रोहनिया सीट जीती।
2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा से गठबंधन कर अनुप्रिया मिर्जापुर सीट से संसद पहुंच गई और रोहनिया विधानसभा सीट खाली हुई।
रोहनिया सीट पर मां कृष्णा पटेल ने चुनाव लड़ा लेकिन सांसद बेटी अनुप्रिया पटेल ने उनके लिए कोई प्रचार नहीं किया।
अनुप्रिया पटेल को अपना दल से निकाल दिया गया। फिर अपना दल दो भागों में बंट गया।
मां कृष्णा पटेल ने अपना दल (कमेरावादी) और अनुप्रिया पटेल ने अपना दल (सोनेलाल) बना लिया। मां का साथ बड़ी बहन पल्लवी पटेल देने लगी।
अनुप्रिया पटेल की पार्टी ने भाजपा के साथ मिलकर यूपी चुनाव 2017 में 9 सीटें और 2022 में 12 सीटें जीती। 2019 के लोकसभा चुनाव में दो सीटें फतह की।
2022 यूपी चुनाव में कृष्णा पटेल ने अखिलेश से गठबंधन किया। सपा के सिंबल पर पल्लवी पटेल ने कद्दावर केशव मौर्य को हराकर सबको चौंका दिया।
यूपी की सियासत में अनुप्रिया को टक्कर पल्लवी दे सकती हैं और कुर्मी वोटबैंक के लिए दोनों राजनीतिक दुश्मन बन चुकी हैं।