Tap to Read ➤

दिल की बीमारी तो नहीं? 10 संकेतों से समझिए

दिल की बीमारी को रोक पाना तो संभव नहीं है लेकिन इसे सही समय पर पहचान कर इसके खतरों को कम किया जा सकता है।
शरीर में ऐसे कई संकेत हैं जो इस बारे में आपको बताते हैं। इन संकेतों को पहचानें। आइए हम आपको ऐसे ही 10 संकेतों के बारे में बता रहे हैं।
रयदि हृदय पर्याप्त रक्त पंप करने में असमर्थ है, तो सांस लेने में समस्या हो सकती है। यह दिल की बीमारी की तरफ बढ़ने के लक्षण हैं।
साँस लेने में कठिनाई
सीने में दर्द
अगर छाती में दर्द, छींक या दर्द महसूस होता है, तो यह दिल का दौरा पड़ने का संकेत हो सकता है। कई बार दुर्लभ मामलों में किसी को सीने में दर्द के बिना भी दिल का दौरा पड़ सकता है।
हाई कोलेस्ट्रॉल
उच्च कोलेस्ट्रॉल आपकी रक्त प्रवाह की नली, जिसे धमनी कहते हैं, में जमा हो जाता है जो दिल की समस्या की प्रमुख वजह बनता है। इसलिए अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर की जाँच करवाते रहें।
अगर आपको चक्कर आ रहा है जरा भी लापरवाही न करें। चक्कर आना और ब्लैकआउट निम्न रक्तचाप और ब्लड को पंप करने में हृदय की कमजोरी का संकेत है।
चक्कर आना
सीने में शुरू होने वाला दर्द अगर बढ़कर गले और जबड़े तक फैलता है, तो दिल के दौरे का प्रारंभिक लक्षण हो सकता है। माता-पिता या बुजुर्गों को हो रहा है तो इसकी संभावना ज्यादा है।
गले और जबड़ों का दर्द
ज्यादा पसीना आना इस बात का संकेत हो सकता है कि दिल की समस्या है। बिना किसी कारण के पसीना आना एक चेतावनी हो सकती है कि आपका दिल रक्त को ठीक से पंप करने में असमर्थ है।
ज्यादा पसीना आना
पैरों में सूजन
पैरों और टखनों में सूजन होना भी दिल की बीमारी के लक्षण हैं। जब आपका हार्ट शरीर को पर्याप्त रक्त पंप करने में असमर्थ होता है तो ऐसा होता है।
पढ़े अगली वेब स्टोरी
ऐसे बनाएं ब्यूटी काढ़ा