By: Oneindia Hindi Video Team
Published : February 08, 2018, 02:00

सरकारी अस्पताल का कारनामा, नसबंदी के बाद महिला हुई 8वीं बार प्रेग्नेंट

Subscribe to Oneindia Hindi

हरदोई। उत्तर प्रदेश में हरदोई के हरपालपुर थाना क्षेत्र के बेहटा-रंपुरा गांव के निवासी कमलेश पुत्र हरीराम व उसकी पत्नी रेखा ने बताया कि उसने 11 दिसंबर को सीएचसी हरपालपुर में अपनी पत्नी रेखा का नसबंदी ऑपरेशन कराया था। डॉ रजनीश आनंद द्वारा किए गए ऑपरेशन के बाद भी उसकी पत्नी गर्भवती हो गई है। उसके गर्भवती होने की जानकारी उसे तब पता चली जब उसकी तबियत खराब हो गई।

डॉक्टर द्वारा अल्ट्रासाउंड कराने पर मामले का खुलासा हुआ। कमलेश का कहना है कि चूंकि उसके सात बच्चे पहले से हैं और वह बहुत गरीब और असहाय व्यक्ति है। पत्नी के गर्भवती होने के कारण उसे काफी मानसिक व आर्थिक आघात पहुंचा है। उसने नसबंदी करने वाले चिकित्सक पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी से मुआवजा दिलाने की मांग की है।

पीड़ित ने मामले की शिकायत जिलाधिकारी से की है और दिए गए शिकायती पत्र में कहा है कि दोषियों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई जाए। सीएमओ डॉक्टर पीएन चतुर्वेदी का लापरवाही पूर्ण बयान आया। सीएमओ ने कहा कि मामले में पीड़िता एक फॉर्म भर दे, उसको शासन से मुआवजा दिलाया जाएगा। कहा कि कभी-कभी कोई आपरेशन फेल हो जाता है।

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

सबसे पहले और ताज़ा खबरों के लिए सब्सक्राइब कीजिये वनइंडिया हिंदी यूट्यूब चैनल