By : Oneindia Hindi Video Team
Published : January 04, 2018, 01:27

रजनीकांत ने लिया करुणानिधि से आशीर्वाद, राजनीति में आने के बाद पहली मुलाकात

रजनीकांत ने जबसे राजनीति ज्वाइन की है तब से लगातार वो मीडिया या खबरों में बने हुए हैं.. साल के आखिरी दिन राजनीति को ज्वाइन करने की बात की तो अगले ही दिन अपने लोगों और वेबसाइट को लोगों के सामने ले आए... रजनीकांत विरोधियों से लेकर सहयोगियों तक से लगातार मुलाकात कर रहे हैं.. नेता बने रजनीकांत ने डीएमके सुप्रीमो करुणानिधि से मुलाकात की... राजनीतिक हलकों में इस मुलाकात के सियासी मतलब निकाले जाने लगे... लेकिन मुलाकात के बाद रजनीकांत ने ये साफ कर दिया की यह एक शिष्टाचार मुलाकात थी... मुलाकात के बाद रजनीकांत ने कहा करुणानिधि देश के सबसे वरिष्ठ नेताओं में से एक हैं. मैं उनका सम्मान करता हूं. हमारे रिश्ते बढ़िया हैं. राजनीति में प्रवेश करने के बाद मैंने उनका आशीर्वाद लिया है. उनसे मुलाकात के बाद मैं बहुत खुश हूं.' पिछले साल 31 दिसंबर 2017 को राजनीति में प्रवेश करने की घोषणा करते हुए रजनीकांत ने राजनीति में ईमानदारी और सुशासन की हिमायत करते हुए आध्यात्मिक राजनीति करने की बात कही थी. उन्होंने कहा था, सबकुछ बदलने की आवश्यकता है. रजनीकांत ने इस बार साफ कर दिया है कि वे डीएमके सहित किसी राजनीतिक पार्टी का सपोर्ट नहीं करेंगे. हालांकि करुणानिधि के साथ उन्होंने एक शिष्टाचार का रिश्ता बनाए रखा है. रजनीकांत ने 31 दिसंबर को राजनीति में उतरने की घोषणा की. कुछ ही दिनों के भीतर हजारों लोगों ने वेबसाइट और मोबाइल ऐप के जरिए रजनी की टीम को ज्वॉइन किया है. दक्षिण भारतीय सिनेमा के लीजेंड ने जाति और धर्म के पूर्वाग्रहों से मुक्त आध्यात्मिक राजनीति की बात कही है. उन्होंने तमिलनाडु में अगला विधानसभा चुनाव लड़ने का इशारा किया है. राजनीति में उतरने की घोषणा के बाद रजनीकांत ने सबसे पहले करुणानिधि से मुलाकात की है.

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

सबसे पहले और ताज़ा खबरों के लिए सब्सक्राइब कीजिये वनइंडिया हिंदी यूट्यूब चैनल