By: Oneindia Hindi Video Team
Published : December 11, 2017, 07:13

राहुल कांग्रेस अध्यक्ष तो बन गए लेकिन आगे डगर कठिन है

Subscribe to Oneindia Hindi

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को पार्टी ने निर्विरोध तरीके से सोमवार को पार्टी का अध्यक्ष चुन लिया गया... इस शीर्ष पद के लिए केवल राहुल ने ही नामांकन किया था। राहुल के सभी 89 नामांकन पत्र सही पाए गए... राहुल के 16 दिसंबर को कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर कार्यभार संभालने की संभावना है .. राहुल गांधी के सिर पर कांग्रेस के अध्यक्ष का ताज तो सज गया है लेकिन ये ताज कांटों भरा हो सकता है... राहुल गांधी अगर कांग्रेस अध्यक्ष बनते हैं, तो कांग्रेस में यह एक प्रकार का जेनरेशनल चेंज होगा. राहुल गांधी युवा हैं और उनका राजनीतिक कैरियर कोई बहुत लंबा नहीं है. ऐसे में पार्टी अध्यक्ष के रूप में उनके पास चुनौतियां तो होंगी ही, साथ ही कुछ नया करने और भारत की एक पुरानी पार्टी में नये लोगों को मौके देकर उसे नया बनाने की जिम्मेदारी भी होगी. अगर राहुल इसमें कामयाब रहे, तो यह राहुल के राजनीतिक कैरियर को एक नया आयाम दे सकता है. बीते तीन सालों में राहुल कई मौकों पर देश से बाहर चले गये, जिससे उनकी छवि में एक गैरजिम्मेदार नेता शामिल हो गया था. इसलिए उनके लिए यह समय बहुत चुनौतीपूर्ण है... लेकिन, बीते तीन-चार महीनों से जिस तरह से राहुल गांधी सक्रिय हैं और भाजपा पर लगातार उसके ही तरीके से हमले कर रहे हैं, उससे उनकी राजनीतिक सक्रियता मजबूत नजर आती है और उनकी गैरजिम्मेदार छवि भी खत्म होती दिखती है. यह कितना कारगर सिद्ध होता है, यह तो गुजरात चुनाव का परिणाम बतायेगा, लेकिन इतना जरूर है कि कांग्रेस में जान फूंकने की उनकी कोशिश एक ईमानदार कोशिश लगती है...

Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

सबसे पहले और ताज़ा खबरों के लिए सब्सक्राइब कीजिये वनइंडिया हिंदी यूट्यूब चैनल