By: Oneindia Hindi Video Team
Published : December 07, 2017, 05:59

कानपुर में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर, आसमान में नैनो कार्बन की परत

Subscribe to Oneindia Hindi

उत्तर प्रदेश के कानपुर की हवा में जहर घुला हुआ है। केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से जारी एअर क्वालिटी इंडेक्स यानि एक्यूआई के मुताबिक कानपुर उत्तर प्रदेश का चौथा सबसे अधिक प्रदूषित शहर है। आईआईटी, कानपुर के पर्यावरण विभाग के मुताबिक उत्तर भारत के उपर नैनो कार्बन की परत बन गयी है। दिल्ली सरकार ने अगर कूड़ा जलाने पर रोक लगायी है तो इसके उलट कानपुर में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट में कूड़ा खुलेआम जलाया जा रहा है। इससे निकलने वाली जहरीली गैसों से आसपास के गांव में मौत का तांडव शुरू हो गया है। हालात बद से बदतर हो रहे हैं लेकिन जिम्मेदार खामोश बैठे हैं।

केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड हर रोज एक्यूआई इंडेक्स यानि हवा की गुणवत्ता का आंकड़ा जारी कर रहा है। कमोबेश इसके पहले तीन पायदान पर दिल्ली के नजदीक वाले पश्चिमी यूपी के जिलों काबिज रहते हैं लेकिन आद्यौगिक शहर कानपुर लगातार चौथे स्थान पर बना हुआ है। इसकी वजह है यहां की हवा में सस्पेंडेड पार्टिकुलेट मैटेरियल का 2.5 का स्तर पाया जाना। इस कारण यूपी की औद्योगिक राजधानी औसतन 370 एक्यूआई के साथ डेन्जर जोन में है। कानपुर में नाइट्रोजन ऑक्साईड का स्तर भी औसतन 97.75 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर पाया गया है जो मानव शरीर के लिये खतरनाक है। शहर की हवा में आद्रता कम होने के कारण वायु प्रदूषण और भी बढ़ा है।

Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

सबसे पहले और ताज़ा खबरों के लिए सब्सक्राइब कीजिये वनइंडिया हिंदी यूट्यूब चैनल