By: Oneindia Hindi Video Team
Published : November 08, 2017, 06:29

एक साल का हुआ नोटबंदी के दौरान जन्मा खजांची

Subscribe to Oneindia Hindi


कानपुर। आठ नवम्बर 2016 के दिन देश के प्रधानमंत्री ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए हजार और पांच सौ के नोटों के चलन पर रोक लगा दी थी। हजार और पांच सौ के नोटों को बंद करने के बाद दो हजार और पांच सौ के नए नोट जारी किये गए थे। प्रधानमंत्री के फैसले से समाज में हलचल मच गयी थी। लोगों को पुराने नोटों को बदलने के लिए बैंक की लाइनों में लगना पड़ा था। बैंकों की लम्बी कतारों में कई कई घण्टे लगने से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। पुराने नोटों को बदलने के लिए कतार में लगी एक महिला का बैंक की सीढ़ियों पर प्रसव हो गया था। महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया था। बैंक वालो ने उस बच्चे का नाम खजांची रख दिया और अब वही खजांची एक साल का हो चुका है।

कानपुर देहात के झींझक ब्लाक के सरदारपुर गांव की रहने वाली सर्वेसा 2 दिसम्बर 2016 को अपना रुपया निकालने के लिए पंजाब नेशनल बैंक की लाइन में लगी थी। सर्वेसा गर्भवती थी लेकिन उसके सामने कालोनी की क़िस्त जमा करने को लेकर काफी परेशानी थी जिसको लेकर वह सुबह 9 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक बैंक की लाइन में लगी रही।

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

सबसे पहले और ताज़ा खबरों के लिए सब्सक्राइब कीजिये वनइंडिया हिंदी यूट्यूब चैनल