By : Oneindia Hindi Video Team
Published : December 22, 2017, 08:13

गरीबों के बीच खुशियां बांटने के लिए आ गया खुशियों का बैंक

भारत में तमाम सरकारी योजनाओं और विकास कार्यों के बावजूद एक बड़ा तबका मुफलिसी में जीने को मजबूर है। लाखों लोग गरीबी के कारण अपने बदन तक को भी सही तरीके से ढकने में असक्षम हैं। ऐसे में समाज के किसी एक कोने में एक व्यक्ति जब अपने प्रयासों पर इनके लिए कुछ करने का प्रयास करता है, तो यह हमें और आपको सुकुन देता है साथ ही उन गरीबों के लिए खुशियों का अलग संसार बन जाता है। जी हां, उत्तराखंड से एक ऐसी ही तस्वीर सामने आई है। राज्य के हल्दवानी में स्थानीय निवासी प्रवीण भट्ट ने गरीबों के लिए एक 'खुशियों का बैंक' खोला है। यहां आप अपने पुराने और नए कपड़ों को दान कर सकते हैं, जिसके बाद यह कपड़े गरीबों के बीच बांट दिया जाता है। सबसे खास बात यह है कि ठंड में इस कार्य से गरीबों को काफी फायदा पहुंच रहा है। 'खुशियों का बैंक' के संयोजक प्रवीण भट्ट ने कहा, 'इस बैंक को खोलने के पीछे का उद्देश्य श्रमिकों के साथ-साथ हमारे गरीब भाईयों को आरामदायक जिंदगी सुनिश्चित करना था।'

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

सबसे पहले और ताज़ा खबरों के लिए सब्सक्राइब कीजिये वनइंडिया हिंदी यूट्यूब चैनल