By: Oneindia Hindi Video Team
Published : December 29, 2017, 02:08

बैकों के न्यूनतम बैलेंस को लेकर जागरूक रहे वरना हो जाएगी ठगी

Subscribe to Oneindia Hindi

बैकों को लेकर हर दिन नियम बदलने के बाद से लोगों में भी काफी कन्फ्यूजन है.. खास करके नोटबंदी के बाद से कई नए नियम आ गए.. सरकार ने अब ये भी नियम कर दिया की आपको अपने बचत खाते में न्यूनतम बैलेंस रखना पड़ता है.. यह दर खातों और बैंकों के मुताबिक अलग- अलग होती है.. कुछ बैंक इसके नाम पर अनुचित पैसे भी वसूलते हैं.. इतना ही बैंक 100 फीसदी से ज्यादा तक सलाना जुर्माना भी लगा सकती है... ये बैंक अलग-अलग रेट से जुर्माना वसूलती है... ये बैंक आरबीआई के गाइड लाइंस को फॉलो नहीं करते जिस वजह से कई तरह के जुर्माना वसूल रहे हैं... न्यूनतम बैलेंस को लेकर आरबीआई ने साफ किया है कि न्यूनतम बैलेंस न रखने पर बैंक जो चार्ज लगा रहे हैं, वे किफायती हों... ये चार्ज सेवा मुहैया करने के लिए लगने वाली लागत से ज्यादा न हो... बैंकों के डेटा को मानें तो एसबीआई न्यूनतम बैलेंस न रखने पर 24.96 फीसदी का जुर्माना लगाता है... लोगों के पास न्यूनतम बैलेंस को लेकर सटीक जानकारी नहीं है जिस वजह से वो बैंक के जुर्माने भुगत रहे हैं.. बेहतर होगा की अगर आपका सेविंग एकाउंट है तो आप न्यूनतम बैलेंस के बारे में बैंक से जरूर जानकारी लें और कोई अगर अवैध वसूल रहा है तो इसे लेकर सतर्क भी रहें...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

सबसे पहले और ताज़ा खबरों के लिए सब्सक्राइब कीजिये वनइंडिया हिंदी यूट्यूब चैनल