By : Oneindia Hindi Video Team
Published : April 14, 2018, 06:06

पुलिस कार्रवाई से तंग आकर छेड़छाड़ की शिकार दलित महिला ने दी जान

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर में थाना फुगाना क्षेत्र के गांव रायपुर अटेरना निवासी देवी चंद अपनी पत्नी सुदेश व अपने बच्चों के साथ थाना बुढाना कोतवाली क्षेत्र के गांव जोला में ग्राम प्रधान हाजी जमशेद के ईट भट्ठे पर मजदूरी कर अपना जीवन बसर कर रहा था। बताया जा रहा है कि देवी चंद का उसके भाई रोहिला से रास्ते को लेकर एक पुराना विवाद चला रहा है जिसके चलते गुरुवार को मृतक महिला सुदेश ने यूपी डायल 100 में शिकायत दर्ज कराई थी कि रोहिला पक्ष के प्रदीप व सुभाष ने उसके साथ छेड़छाड़ की है जिसके बाद डायल 100 की गाड़ी मौके पर पहुंची थी मगर पीड़िता की शिकायत को झूठी बता कर मामला रफा-दफा कर दिया।

इसके बाद पुलिस ने देवर पक्ष की तरफ से पीड़िता के परिवार पर दर्ज कराए गए पुराने मामले में कोर्ट से आए गैर जमानती वारंट के आधार पर मृतका के पति देवी चंद व उसके बेटे यशवंत को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया जिसके बाद मृतका ने अपने पति और बेटे को छुड़ाने के लिए पुलिस से लाख मिन्नतें की मगर पुलिस का दिल नहीं पसीजा जिससे पीड़िता को लगा कि पुलिस उनके विरोधी पक्ष से मिली हुई है जिस वजह से उनकी शिकायत नहीं सुनी जा रही है।

पीड़िता ने भट्ठे पर जाकर कमरे में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मामले में एसएसपी अनंत देव तिवारी ने कार्रवाई करते हुए फुगाना थाने के दरोगा सुभाषचंद को लापरवाही करने में सस्पेंड कर दिया जिसके बाद पुलिस ने महिला से छेड़छाड़ के आरोपी सुभाष व प्रदीप को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पूरे मामले की छानबीन करने के आदेश दे दिए हैं। वहीं बुढाना पुलिस ने महिला की आत्महत्या के मामले में भी मुकदमा दर्ज करते हुए कार्रवाई शुरू कर दी है। हलांकि पीड़ित महिला की जान चले जाने के बाद भी पुलिस दलील देती दिखाई दे रही है।

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

सबसे पहले और ताज़ा खबरों के लिए सब्सक्राइब कीजिये वनइंडिया हिंदी यूट्यूब चैनल